Ram Bahal Chaudhary
Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद और भाई को भाजपा ने पार्टी से निष्कासित किया

  • by: news desk
  • 24 September, 2022
अंकिता भंडारी हत्याकांड के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद और भाई को भाजपा ने पार्टी से निष्कासित किया

ऋषिकेश: अंकिता भंडारी हत्याकांड के मद्देनजर भाजपा ने मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता विनोद आर्य और भाई अंकित आर्य को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया है। प्रदेश भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र सिंह बिष्ट ने बताया कि ,'उत्तराखण्ड प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट ने अंकिता की हत्या का संज्ञान लेते हुए डॉ. विनोद आर्य एवं उनके पुत्र डॉ. अंकित आर्य निवासी जनपद हरिद्वार को भारतीय जनता पार्टी से तत्काल प्रभाव से निष्कासित किया है। पुलकित के पिता विनोद आर्य राज्य मंत्री थे, जबकि पुलकित का भाई अंकित आर्य अभी पुष्कर सिंह धामी सरकार में ओबीसी कल्याण आयोग में उपाध्यक्ष ( दर्जा प्राप्त मंत्री )| 



अंकिता भंडारी हत्याकांड में  मुख्य आरोपी पुलकित आर्य समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है| भाजपा नेता व पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य के पुत्र व विनन्तरा रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, प्रबंधक सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता को गिरफ्तार किया है।युवती का शव शनिवार सुबह बरामद हो गया है।  19 साल की अंकिता बीते 18-19 सितंबर से गायब थी| पुलकित आर्य ही उस रिसॉर्ट का मालिक है, जहां अंकिता काम करती थी| अधिकारियों ने देर रात रिसॉर्ट पर बुल्डोजर से चला दिया|



उल्लेखनीय है कि विनोद आर्य भाजपा के पुराने नेता हैं और पूर्व में राज्य मंत्री रह चुके हैं| वहीं डॉ. अंकित आर्य इस समय पिछड़ा वर्ग आयोग में उपाध्यक्ष के पद पर मनोनित हुआ था| उसे भी उत्तराखंड सरकार में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त था|



भाजपा विधायक रेणु बिष्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

इस बीच हत्याकांड के विरोध में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने भाजपा विधायक रेनू बिष्ट की कार पर हमला कर दिया। इसमें कार क्षतिग्रस्त हो गई है|ऋषिकेश में स्थानीय लोगों ने अंकिता भंडारी हत्याकांड को लेकर आंदोलन किया। इस दौरान लोगों ने भाजपा विधायक रेणु बिष्ट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और उनकी कार में तोड़फोड़ की।



अंकिता भंडारी की हत्या कर नहर में फेंक दिया था शव

भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित ने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर 19 साल की लड़की अंकिता भंडारी की हत्या कर दी थी और उसका शव चिल्ला पॉवर हाउस के नहर में फेंक दिया था। राज्य आपदा राहत बचाव दल यानी एसडीआरएफ और पुलिस की टीम ने नहर से अंकिता का शव बरामद किया। अंकिता के माता-पिता ने शव की पहचान कर ली |



रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्य अंकिता पर यौन संबंधों के लिए दबाव बना रहा था, जिसका वह विरोध कर रही थी। यही नहीं, पुलकित चाहता था कि अंकिता उसके रिसॉर्ट में आने वाले ग्राहकों की भी 'सेवा' करे यानी वह उसे कस्टमर्स के सामने वेश्या बनाकर कॉल गर्ल के तौर पर पेश करना चाहता था। अंकिता इन सबका विरोध करती थी। 



मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बीजेपी के पूर्व मंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य ने बेटी पर वेश्या’वृत्ति करने का दबाव बनाया था लेकिन अंकिता ने इससे इंकार कर दिया।इसी वजह से पुलकित ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अंकिता की हत्या कर शव नहर में फेंक दिया।पुलिस ने फिलहाल तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इन तीनों ने जुर्म भी कबूल लिया है। परिजनों के अलावा लोगों में काफी गुस्सा है। 



स्थानीय लोगों ने भाजपा नेता व पूर्व मंत्री के रिसोर्ट में की तोड़फोड़, आरोपियों को लेकर जा रही पुलिस की गाड़ी को महिलाओं ने घेरा



नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने शुक्रवार को कहा,''अंकिता की हत्या ने न केवल राज्य की कानून व्यवस्था बल्कि भाजपा सरकार के "बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ"नारे की हकीकत भी सामने ला दी है । उत्तराखण्ड की मासूम बेटी के नृसंश हत्याकांड में भाजपा पदाधिकारियों के परिजन की मुख्य अभियुक्त  के रूप में गिरफ्तारी के बाद अब इस नारे को "भाजपा के दरिंदों से बेटी बचाओ" कर देना चाहिए।



कांग्रेस नेता यशपाल आर्य ने कहा,''यह प्रदेश के लिए अफ़सोस जनक स्थिति है कि , मृत लड़की का अभागा पिता चार दिन अपनी बेटी की गुमसुदगी की रिपोर्ट लिखने के लिए घूमता रहा लेकिन उसकी रिपोर्ट नही लिखी गयी। रिपोर्ट लिखने में ना-नुकुर के पीछे निश्चित ही सत्ता पक्ष भाजपा का दबाव होगा । चार दिन बाद भी गुमसुदा लड़की के पिता के सामने होने के बाद भी गिरफ्तार मुख्यभियुक्त द्वारा रिपोर्ट लिखवाना सिद्ध करता है कि , सरकार ने अंतिम समय तक आरोपी को बचाने की कोशिश की और मामले को कमजोर करने की हर तकनीकी कोशिश की है।



यह भी बेहद चिंताजनक स्थिति है कि , सोशल मीडिया में गुमसुदगी का शोर मचने के बाद भी माननीय मुख्यमंत्री सहित किसी भी जिम्मेदार अधिकारी का न तो कोई बयान आया न ही  मुकदमा दर्ज किया।  पुलिस ने इस मामले में भाजपा नेता व पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य के पुत्र रिसोर्ट संचालक  पुलकित आर्य सहित रिसोर्ट में कार्यरत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है । गिरफ्तारी के बाद  रेगुलर पुलिस ने 2 अलग प्रेस नोट जारी किए हैं उनमें भी भ्रांति पैदा की गई है । इन सभी से निष्कर्ष निकलता है कि भाजपा सरकार हर तरह से अपराधियों को मदद कर रही है। पितावके अलावा पुलकित का बड़ा भाई अंकित आर्य भी  ओबीसी आयोग में पदाधिकारी बताया जा रहा है।



यशपाल आर्य ने कहा,  अंकिता हत्याकांड सिद्ध करता है कि ,   भाजपा सरकार में शांत पहाड़ों में भी अब बेटियाँ सुरक्षित नहीं हैं और बिगड़ती कानून व्यवस्था के लिए भाजपा नेता और उनके करीबी लोग जिम्मेदार हैं।


अंकिता भंडारी हत्या में भाजपा नेता पुत्र समेत 3 गिरफ्तार 


राज्य के पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा,''अंकिता का हत्यारा। आज एक समाचार पत्र में यह प्रकरण छपा है कि कैसे इनको हमने सारे दबावों को झेलते हुए वह दबाव बाहर से भी थे, एकाध और लो भी थे जिनका दबाव था। मगर इनको नकलची और नकल रैकेट चलाने के लिए और एक संस्था जिसको हम आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय कहते हैं उसको नष्ट करने की सम्भावना को देखते हुए हमने निष्कासित कर दिया था। 



कालांतर में किन परिस्थितियों में कौन लोग थे, जिन्होंने उस निष्कासित व्यक्ति को फिर से एडमिशन दिया। एडमिशन मिल जाता है एक निश्चित अवधि के बाद लेकिन ऐसे व्यक्तियों को वहां की पूरी व्यवस्था को संचालित करने का अधिकार कैसे मिल गया! यह एक भारी महत्वपूर्ण प्रश्न है! क्योंकि जिस व्यक्ति ने अंकिता की हत्या की है, उस व्यक्ति का नाम आयुर्वेदिक संस्था के बहुत सारे प्रकरणों में आता है।



हरीश रावत ने कहा,''उसके (बीजेपी के पूर्व मंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य)  रिजॉर्ट पर बुलडोजर चलाने का फैसला किसका था, मैं समझ नहीं पाया। लेकिन मेरी समझ में यह नहीं आया जिस व्यक्ति को हत्या के साक्ष्य जुटाने के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा जाना चाहिए था, उसको जुडिशियल रिमांड पर कैसे भेज दिया गया है? और क्यों नहीं प्रयास किए जा रहे हैं कि वापस पुलिस रिमांड पर लिया जाए! आखिर अंतिम निर्णय पर जब न्यायालय के सामने ये चीजें आएंगी तो फिर साक्ष्य मायने रखेंगे। रिसॉर्ट में जो साक्ष्य जुटाए जा सकते थे वो बुलडोजर के हवाले हो जाएंगे और बाकी साक्ष्य जुटाने का जो दायित्व पुलिस का है, उससे जुडिशियल कस्टडी के नाम पर बच जाएंगे। 



पूर्व सीएम रावत ने कहा,'वैसे कुछ पार्टियां नैतिकता का बड़ा दम भरती हैं। लेकिन इस मामले में संबंधित लोगों की पंहुच इतनी बड़ी है कि जिस पार्टी के वो सदस्य हैं, उस पार्टी ने भी अभी तक उनके निष्कासन के विषय में कोई कार्यवाही नहीं की है! हमने जिन संस्थाओं को खड़ा किया, मैं बिना साक्ष्य के कुछ कहना नहीं चाहता लेकिन नियुक्तियों के प्रकरण में कुछ बातें आई हैं, उस पर भी यदि लोग मुझे चुनौती देंगे तो मैं उस पर भी कुछ कहूंगा, तो यह अंकिता प्रकरण गंभीरता के साथ एक पुलिसीय एंगल से कि अपराधी को सजा मिलनी है इस दृष्टिकोण से जुटाये जाने चाहिए और उसी दृष्टिकोण से निर्णय भी लिए जाने चाहिए, और ऐसे अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों को किन लोगों का संरक्षण है, वह चीजें भी सामने आनी चाहिए।




उत्तराखंड कांग्रेस का ट्वीट


-अल्मोड़ा: अल्मोड़ा कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष पितांबर पांडे एवं नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला के संयुक्त नेतृत्व मे अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना निर्मम हत्या के विरोध में सरकार का पुतला फूंका।



-राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना में सरकार की ढुलमुल भूमिका के विरुद्ध पूर्व मंत्री नवप्रभात के नेतृत्व में विकासनगर पहाड़ी गली चौक पर एकत्र होकर उत्तराखंड सरकार का पुतला फूंका और जबरदस्त प्रदर्शन किया l


-चीला बैराज गंगा भोगपुर स्थित रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी रुद्रप्रयाग अध्यक्ष श्री ईश्वर सिंह बिष्ट के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।



-महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल छिमवाल के नेतृत्व में देवभूमि की बेटी अंकिता भंडारी के साथ हुई जघन्य वारदात और उसके बाद उसकी हत्या के दोषियों को फांसी की सजा दिलाने जाने की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला फूंका।



-राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में महानगर कांग्रेस कमेटी ऋषिकेश अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत, कार्यकारी अध्यक्ष श्री सुधीर राई के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।



-BJP नेता के बेटे ने एक लड़की को मार द‍िया, क्‍योंक‍ि वो देह व्‍यापार से इनकार कर रही थी। BJP के जंगलराज में मह‍िलाओं के ख‍िलाफ अपराध बढ़ते जा रहे हैं। कहीं बेटी की लाश को JCB से दफनाया जा रहा, कहीं बेटी को नहर में फेंका जा रहा। और बेटी बचाओ का नारा देने वाले खामोश हैं।


-जिला कांग्रेस कमेटी बागेश्वर अध्यक्ष श्री लोकमणि पाठक के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य की ध्वस्त होती कानून व्यवस्था तथा महिलाओं पर बढ रही अत्याचार की घटनाओं के विरोध में भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।



-भाजपा नेता के रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी पिथौरागढ़ अध्यक्ष श्री त्रिलोक सिंह महार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।



-उत्तराखंड की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में महानगर कांग्रेस कमेटी देहरादून कार्यकारी अध्यक्ष डॉ0 जसविंदर सिंह गोगी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन कर रोष व्यक्त किया।



-उत्तराखंड की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी पौड़ी अध्यक्ष श्री विनोद नेगी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।



-भाजपा नेता के रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी चमोली अध्यक्ष श्री वीरेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।


-भाजपा नेता के रिजार्ट में राज्य की बेटी अंकिता भण्डारी के साथ हुई जघन्य अपराध की घटना के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी देवप्रयाग अध्यक्ष श्री उत्तम सिंह असवाल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार का पुतला दहन किया।




आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TVL News

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: https://twitter.com/theViralLines
ईमेल : thevirallines@gmail.com

You may like

स्टे कनेक्टेड