Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

अमेरिका अब वही देश नहीं रहा जिस पर 9/11 को हमला हुआ था, आज हम ज़्यादा ताकतवर और आतंकवाद की चुनौतियों के लिए तैयार:UNGA में राष्ट्रपति बाइडेन

  • by: news desk
  • 21 September, 2021
अमेरिका अब वही देश नहीं रहा जिस पर 9/11 को हमला हुआ था, आज हम ज़्यादा ताकतवर और आतंकवाद की चुनौतियों के लिए तैयार:UNGA में राष्ट्रपति बाइडेन

न्यूयॉर्क: न्यूयॉर्क में UNGA (United Nations General Assembly) को संबोधित करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि,''अमेरिका अब वही देश नहीं रहा जिस पर 20 साल पहले 9/11 को हमला हुआ था। आज हम ज़्यादा ताकतवर और आतंकवाद की चुनौतियों के लिए तैयार है| न्यूयॉर्क में यूएनजीए में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि,'पीड़ा और असाधारण संभावनाओं के इस समय (कोविड-19) में हमने बहुत कुछ खोया है... हमने लाखों लोगों को खोया है...Lost more than 4.5 Million people from every Nation। प्रत्येक मृत्यु हृदयविदारक है| लेकिन हमारा दुःख आम मानवता की याद दिलाता है और एक साथ कार्य करना है|



न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा कि,आज हम आतंकवाद के ख़तरे का सामना कर रहे हैं, हमने अफगानिस्तान में 20 साल से चल रहे संघर्ष को समाप्त कर दिया है। हम कूटनीति के दरवाजे खोल रहे हैं.. हमारी सुरक्षा, समृद्धि, स्वतंत्रता आपस में जुड़ी हुई है। हमें पहले की तरह एक साथ काम करना चाहिए| हमने स्वास्थ्य सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, उभरती प्रौद्योगिकियों की चुनौतियों का सामना करने के लिए क्वाड साझेदारी को बढ़ाया है|




बाइडेन ने कहा कि,''हथियार कोविड-19 या फ्यूचर वेरिएंट से हमारा बचाव नहीं कर सकते, सामूहिक विज्ञान और राजनीतिक इच्छाशक्ति कर सकती है। हमें अभी काम करने की ज़रूरत है। भविष्य के लिए वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा को फाइनेंस करने के लिए हमें एक नया मकैनिजम बनाने की ज़रूरत है| 



बाइडेन ने कहा कि,'''हम एक और शीत युद्ध नहीं चाहते, जिसमें दुनिया विभाजित हो...अमेरिका किसी भी राष्ट्र के साथ काम करने के लिए तैयार है जो शांतिपूर्ण प्रस्तावों का अनुसरण करता हो...क्योंकि हम सभी अपनी असफलताओं के परिणाम भुगत चुके हैं| अमेरिका ईरान को परमाणु हथियार हासिल करने से रोकने के लिए प्रतिबद्ध है... हम कोरियाई प्रायद्वीप के पूर्ण विसैन्यीकरण को आगे बढ़ाने के लिए गंभीर और निरंतर कूटनीति चाहते हैं।




बाइडेन ने कहा कि,''अमेरिका अब वही देश नहीं रहा जिस पर 20 साल पहले 9/11 को हमला हुआ था। आज हम ज़्यादा ताकतवर और आतंकवाद की चुनौतियों के लिए तैयार हैं.....countering the propaganda........| बाइडेन ने कहा कि,''हम आतंकवाद के कड़वे दंश को जानते हैं। पिछले महीने काबुल हवाई अड्डे पर हुए जघन्य आतंकवादी हमले में हमने 13 अमेरिकी नायकों और कई अफगान नागरिकों को खो दिया। जो लोग हमारे खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं, वे अमेरिका को एक कट्टर दुश्मन के रूप में पाएंगे|




बाइडेन ने कहा कि,'''अमेरिकी सैन्य शक्ति हमारे अंतिम उपाय का उपकरण होना चाहिए, न कि हमारा पहला...US military power must be our tool of last resort, not our first




अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ अपनी और अपने सहयोगियों की रक्षा करना जारी रखेगा......| यूएनएससी ने अफगानिस्तान के लोगों का समर्थन करने के तरीके को रेखांकित करते हुए एक प्रस्ताव अपनाया, तालिबान से उम्मीदें रखीं...हम सभी को महिलाओं, लड़कियों के अधिकारों की वकालत करनी चाहिए ताकि वे हिंसा और धमकी से मुक्त होकर अपने सपनों को पूरा कर सकें: संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन





न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) को संबोधित करते हुए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा,''भविष्य उन लोगों का है जो अपने लोगों को मुफ्त में सांस लेने की क्षमता देते हैं, न कि उन लोगों का जो अपने लोगों का 'लोहे के हाथों' से दम घोंटना चाहते हैं....|







आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TVL News

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: https://twitter.com/theViralLines
ईमेल : thevirallines@gmail.com

You may like

स्टे कनेक्टेड