Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

UPTET पेपर लीक मामला: यूपी एसटीएफ ने मामले में गैंग के मुख्य सरगना, सहायक अध्यापक और लैब टेक्निशियन समेत 29 को दबोचा, रासुका एवं गैंगेस्टर एक्ट के साथ सम्पत्ति भी कुर्क होगी

  • by: news desk
  • 28 November, 2021
UPTET पेपर लीक मामला: यूपी एसटीएफ ने मामले में गैंग के मुख्य सरगना, सहायक अध्यापक और लैब टेक्निशियन समेत 29 को दबोचा, रासुका एवं  गैंगेस्टर एक्ट के साथ सम्पत्ति भी कुर्क होगी

लखनऊ: यूपीटीईटी पेपर लीक: यूपी टीईटी पेपर लीक मामले (UPTET paper leak Case) में यूपी एसटीएफ ने आज राज्य के विभिन्न हिस्सों से पेपर सॉल्व करने वाले और प्रश्न पत्र लीक करने वाले गिरोह के 29 से अधिक सदस्यों को गिरफ्तार किया और प्रश्न पत्र, मोबाइल, पेन ड्राइव और नोट बरामद किए|  उ0प्र0 शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP-TET) 2021 की परीक्षा में अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर पेपर आउट, साल्वर बैठाने एवं अन्य माध्यमों से नकल कराने वाले गिरोह के सदस्यों, साल्वरो, एवं अभ्यर्थियों सहित कुल 29 लोगों को प्रदेश के विभिन्न जनपदों से गिरफ्तार किया गया।



यूपी पुलिस ने बताया कि,'मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार प्रदेश में आयोजित होने वाली परीक्षाओं की शुचिता, निष्पक्षता एवं पारदर्शिता बनाये रखने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस कटिबद्ध है। उक्त निर्देश के अनुपालन में यूपी एसटीएफ एवं जनपदीय पुलिस को एक महत्तवपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।




आज दिनांक 28-11-2021 को उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के निर्धारित सेन्टरों पर दो पालियों में TET भर्ती परीक्षा का अयोजन किया जाना था। इस सम्बन्ध में एसटीएफ उ०प्र० को साल्वर गैंग के माध्यम से पेपर लीक कराने अथवा साल्वर बैठाकर परीक्षा कराये जाने की सूचना मिली थी। इस सम्बन्ध में एसटीएफ की सभी टीमों / फील्ड इकाईयों को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था, जिसके अनुपालन में अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।



अभिसूचना के आधार पर आज दिनांक 28-11-2021 को UP-TET के परीक्षा में विभिन्न माध्यमों से नकल कराने, पेपर आउट कराने एवं साल्वर बैठाने वाले गैंगों के लगभग 26 से अधिक सदस्यों को एसटीएफ उत्तर प्रदेश की विभिन्न टीमों/फील्ड इकाईयों द्वारा प्रदेश के अलग-अलग जनपदों के परीक्षा केन्द्रों से गिरफ्तार किया गया, जिनके पास से परीक्षा के पेपर की कापियों, मोबाइल, पेन ड्राइव, नोट्स आदि बरामद हुए है, जिसका विवरण निम्नवत


लखनऊ से 4 दबोचे 

लखनऊ एसटीएफ पुलिस उपाधीक्षक धर्मेश कुमार शाही के नेतृत्व में जनपद लखनऊ से 04 लोगों क्रमश: (1) अनुराग देश पुत्र अरूण देश थाना मऊरानीपुर झॉसी (2) फौजदार वर्मा उर्फ विकास वर्मा पत्र रामउजागिर नि० रामनगर करनी थाना महरूआ, अम्बेडकरनगर (3) कौशलन्द्र प्रताप पुत्र रामधीरज राय नि० ग्राम कपासी थाना रौनाही, अयोध्या एवं (4) चन्द वर्मा पुत्र प्रकाश वर्मा थाना मऊरानीपुर झाँसी को गिरफ्तार किया गया, जिनके पास से पेपर की छायाप्रति बरामद हुई है।


कौशाम्बी से 1  गिरफ्तार

लाल प्रताप सिंह पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ लखनऊ के नेतृत्व में अभियुक्त रोशन सिंह पटेल पुत्र राम नरेश पटेल निवासी शंकर बाजार थाना कर्वी चित्रकूट जो मंझनपुर पीएचसी में लैब टेक्निशियन है, को जनपद कौशाम्बी से गिरफ्तार किया गया है, इसके मोबाइल के व्हाट्सएप मैसेज में हस्त लिखित प्रश्न / उत्तर प्राप्त हुआ है।



शामली में 3 लोग गिरफ्तार

एसटीएफ फील्ड इकाई मेरठ जनपद शामली में कोतवाली थाना क्षेत्र से 03 लोगो क्रमशः (1) मनीष उर्फ मोनू पुत्र देवेन्द्र मलिक, कोतवाली शामली। (2) रवि पुत्र विनोद कांदला नि० नाला थाना कांदला, जनपद- शामली (3) धर्मेन्द्र पुत्र कुवर पाल नि० बटरौडी, शामली को गिरफ्तार किया गया है, इनका एवं बड़े पैमाने पर गैंग है, इन लोगों को किसी माध्यम से रू० पाँच लाख में आज शाम को होने वाली परीक्षा का लगभग 10 प्रतियों में प्रश्न-पत्र प्राप्त हुआ था, जिसे इनके द्वारा 50-50 हजार रूपये लेकर लगभग 50 से 60 अभ्यर्थियों को इस प्रश्नपत्र को पढ़ाना / याद कराना था. गैंग के अन्य सदस्यों के बारे में छानबीन चल रही है।



 अयोध्या में 2 लोग गिरफ्तार

एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी के अभिसूचना पर गोरखपुर टीम द्वारा कार्यवाही करते हुए जनपद अयोध्या से संदीप वर्मा पुत्र जैसराज वर्मा ममरखा थाना कुरेभार जनपद सुलतानपुर को गुरुनानक एकेडमी महिला पीजी कालेज, अयोध्या जो उमानन्द गुप्ता के स्थान पर परीक्षा दे रहा था एवं रमेश गुप्ता पुत्र सैजुराम गुप्ता नि० करौदी थाना जलालपुर अम्बेडकरनगर (गैंग सरगना) को इसी कालेज के बाहर से गिरफ्तार किया गया। रमेश के मोबाइल के व्हाट्सएप में स्कैन प्रश्न-पत्र मिला।



https://www.thevirallines.net/lucknow-news-uttar-pradesh-congress-attacks-yogi-govt-over-cancellation-of-up-tet-exam-due-to-paper-leak



एसटीएफ फील्ड इकाई, प्रयागराज द्वारा जनपद प्रयागराज के विभिन्न स्थानों से 16 गैंग सरगना / साल्वरों/अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया, जिनके पास से पेपर की फोटो कापी बरामद हई, जो कि बिहार के साल्वरों के माध्यम से अभ्यर्थियों के पेपर साल्व कराने / करने वाले थे, जिनका विवरण निम्न है|


गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण:- थाना क्षेत्र नैनी, जनपद प्रयागराज

1. साल्वर गैंग का मुख्य सरगना राजेन्द्र पटेल पुत्र इन्द्रजीत पटेल, निवासी ग्रमा जयरामपुर, पो०दुर्गागंज थाना रानीगंज, जनपद प्रतापगढ़।

2. बिहार से साल्वर उपलब्ध कराने वाला सन्नी सिंह पुत्र महेश सिंह निवासी ग्राम खराठी पो० बदगाहा, जनपद गया, बिहार। 

3. सॉल्वर टिन्कू कुमार पुत्र शिवनाथ प्रसाद निवासी ग्राम रेकुना फारम बोधिगया, जनपद गया, बिहार

4. साल्वर गैंग का सदस्य नीरज शुक्ला पुत्र नागेन्द्र प्रसाद शुक्ला निवासी ग्राम चौबे पट्टी थाना रानीगंज जनपद प्रतापगढ़ 

5. सॉल्वर शीतल कुमार पुत्र सुनील कुमार वर्मा निवासी खरंटी थाना बोधगया जनपद गया, बिहार 

6. सॉल्वर धन्नजय कुमार पुत्र सुदामा प्रसाद नि० धर्मदेव नगर, मानपुर थाना मुफस्सिल जनपद गया बिहार

 7. सॉल्वर कुनैन राजा पुत्र सरफे मोहम्मद नि० टेकुना थाना बोधगया जनपद गया, बिहार।

8. सॉल्वर शिवदयाल पुत्र बृज किशोर पाण्डेय, नि० धुरिया थाना बारून जनपद औरंगाबाद, बिहार



गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण:- थाना क्षेत्र झूसी, जनपद प्रयागराज

1. सॉल्वर अनुराग पुत्र सुगेनी प्रसाद निवासी नई बस्ती मकान नं०-14, पो0 दल्ला, थाना चोपन, जनपद सोनभद्र

2. अभिषेक सिंह पुत्र अश्वनी सिंह निवासी प्यारे लाल कालोनी बलदाऊगंज थाना कर्वी, जनपद चित्रकूट (अभ्यर्थी)।

3. सत्य प्रकाश सिंह पुत्र रोहनी प्रसाद सिंह निवासी वार्ड नं0-9 पटेल नगर थाना शंकरगढ़ जनपद प्रयागराज (सत्य प्रकाश सिंह, सहायक अध्यापक प्रा०वि० करियाखुर्द शंकरगढ, प्रयागराज / सरगना इनके व्हाट्सएप पर साल्व किया हुआ पेपर पाया गया)।




गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण:- थाना क्षेत्र जार्जटाउन, जनपद प्रयागराज

1. चर्तुभुज सिंह पुत्र त्रिलोकी नाथ सिंह निवासी सेमरी, बाघराय थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर गैंग का सरगना)। 

2. संजय सिंह पुत्र देवी प्रसाद निवासी सिरावल, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर)। 

3. अजय कुमार पुत्र धर्मराज सिंह, निवासी ग्राम पचवहं, पो॰खजुरी थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर)। 

4. ब्रम्हा शंकर सिंह पुत्र मारकण्डेय प्रसाद सिंह निवासी ग्राम पियरी पो० महली, थाना कोरांव, जनपद प्रयागराज (साल्वर)। 

5. सुनील कुमार सिंह पुत्र जगपति लाल सिंह निवासी हरदिहा, थाना खीरी, जनपद प्रयागराज (सहयोगी, गैंग मेम्बर)।




उपरोक्त अभियुक्तगणो के विरूद्ध एन.एस.ए. एवं गैंगेस्टर एक्ट के साथ सम्पत्ति भी कुर्क होगी


 नोट: अपर पुलिस महानिदेशक, कानून व्यवस्था एवं प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा उत्तर प्रदेश द्वारा संयुक्त प्रेस वार्ता में बताया गया कि:- आगामी एक माह में दोबारा परीक्षा आयोजित करने का निर्णय शासन द्वारा तत्काल लिया गया है। परीक्षा में जो भी व्यय आएगा. वह सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। बच्चों को दोबारा फॉर्म नहीं भरना पड़ेगा और न ही पनः फीस ली जाएगी। जो बच्चे परीक्षा देकर वापस लौट रहे हैं उनको UPSRTC की बसों में प्रवेश पत्र दिखाकर फ्री जाने की अनुमति दी गयी है। पूरे प्रकरण की जाँच STF द्वारा की जाएगी।



https://www.thevirallines.net/lucknow-news-uttar-pradesh-priyanka-gandhi-attacks-yogi-govt-over-uptet-paper-leak



शामली से 3 दबोचे 

शामली में TET की परीक्षा लीक करने के मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। चौथा आरोपी अजय फरार होने में कामयाब रहा। ये सभी आरोपी शामली के आस-पास के गांवों के ही रहने वाले हैं। मुख्य चारों आरोपी किसान परिवार से हैं।



कुछ दिन पहले ही ये लोग बागपत के रमाला गांव में मिले थे। माना जा रहा है कि वहीं पर पेपर लीक करने की साजिश रची गई। आरोपियों ने पेपर लीक करने के लिए 50 लोगों से संपर्क किया था। 50 हजार रुपए में पेपर बेच रहे थे। तीनों के पास से आज का ऑरिजनल पेपर भी बरामद हुआ है।UP टीईटी 2021 का पर्चा लीक होने की वजह से परीक्षा रद्द हो गई है। पहले पर्चा सोशल मीडिया पर गाजियाबाद, मथुरा, बुलंदशहर में सामने आया था। 



कंप्यूटर का जानकार है आरोपी मनीष

आरोपी मनीष गांव झाल का रहने वाला है। उसने 2016 में बड़ौत कॉलेज से बीए पास किया। कुछ समय पहले वो अपने कुछ दोस्तों के साथ हरियाणा चला गया था। उसने देहरादून में कंप्यूटर सेंटर शुरू किया था।|



कोरोना काल में उसे काफी नुकसान हुआ। इसके बाद मनीष का कंप्यूटर सेंटर बंद हो गया। 2020 में वह शामली वापस आ गया। मनीष के पिता देवेंद्र मलिक ग्राम प्रधान हैं। उनके पास करीब 10 बीघा जमीन हैं। मनीष अब गांव में रहकर खेतीबाड़ी करने लगा था।



आरोपी रवि है 12वीं पास

आरोपी रवि गांव नाला कांधला का रहने वाला है। रवि 12वीं पास है। कोई नौकरी नहीं होने की वजह से वह अपने पिता के साथ खेती करता है। रवि के पड़ोसियों का कहना है कि यह कभी लगा ही नहीं कि रवि इस तरह के कामों में शामिल हो सकता है।



धर्मेंद्र भी करता है खेती-बाड़ी

आरोपी धर्मेंद्र गांव बुतराड़ी सदर कोतवाली का रहने वाला है। वह भी 12वीं पास है। धर्मेंद्र भी पढ़ाई में कमजोर होने की वजह से 12वीं के आगे नहीं पढ़ सका। जब कुछ काम नहीं मिला तो पिता के साथ खेती-बाड़ी में जुट गया। अचानक से परिवार और मोहल्ले वालों को पता चला कि बेटा अपराधी है।



https://www.thevirallines.net/lucknow-news-uttar-pradesh-akhilesh-yadav-attacks-bjp-govt-on-uptet-paper-leak


बागपत में हुई थी चारों की मुलाकात

चारों आरोपियों की कुछ दिन पहले ही बागपत के गांव रमाला में मुलाकात हुई थी। तीनों ही अपने हालात से परेशान थे। जांच में सामने आ रहा है कि इन लोगों ने पेपर लीक की साजिश भी रमाला में ही रची है। मनीष के पिता राजनीति में अच्छी पकड़ रखते हैं। वो रालोद पार्टी को सपोर्ट भी करते हैं।








Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TVL News

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: https://twitter.com/theViralLines
ईमेल : thevirallines@gmail.com

You may like

स्टे कनेक्टेड