Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

दिल्ली व लखनऊ के बीच फंस गये दूत, इधर एक को मनाते हैं तो दूजे जाते रूठ: यूपी की सियासत में मचे घमासान पर अखिलेश का BJP पर तंज

  • by: news desk
  • 02 June, 2021
दिल्ली व लखनऊ के बीच फंस गये दूत, इधर एक को मनाते हैं तो दूजे जाते रूठ: यूपी की सियासत में मचे घमासान पर अखिलेश का BJP पर तंज

लखनऊ: यूपी में पिछले कई दिनों से योगी आदित्यनाथ मंत्रिमंडल के विस्तार व सूबे के CM योगी को मुख्यमंत्री पद से हटाने की चर्चाओं का माहौल गरम है| मंगलवार को भी इसे लेकर बैठकों का दौर चलता रहा। आईएएस से एमएलसी बने एके शर्मा को डिप्टी सीएम बनाने की सबसे ज्यादा चर्चा है। इस बीच एक बार फिर समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीजेपी को घेरा है|



अखिलेश यादव ने ट्वीट करते भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि,''दिल्ली व लखनऊ के बीच फँस गये दूत.. इधर एक को मनाते हैं तो दूजे जाते रूठ|  अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए लिखा है,''दिल्ली व लखनऊ के बीच फँस गये दूत... इधर एक को मनाते हैं तो दूजे जाते रूठ... दरार-रार पाटने के वास्ते ट्वीट करते झूठ



आज यानी बुधवार को  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार का डबल इंजन 8 वर्षो से यार्ड में ही खड़ा है। राज्य सरकार के 4 वर्ष और इसी अवधि में केंद्र के 4 वर्षो में डबल इंजन टस से मस नहीं हुआ। विकास योजनाएं प्लेटफार्म पर इंतजार में हैं। कोई पूछने वाला नहीं। भाजपा सरकार अधिकारियों की शंटिग करती रहती है।



उन्‍होंने कहा कि,''जब कुछ करना नहीं तो भाजपा को अधिकारी-अधिकारी खेलना ही भाता है। एक अधिकारी दिल्ली से लखनऊ भेजे गए उन्हे काम नहीं करने दिया गया। पं0 बंगाल में काम कर रहे अधिकारी को काम करने नहीं दिया जा रहा है।



अखिलेश यादव ने कहा है कि,''पश्चिम बंगाल में चुनी हुई सरकार के साथ चुनाव में करारी हार का बदला भाजपा निचले स्तर पर आकर ले रही है यह संघीय ढांचे की मूल भावना की अवहेलना और लोकतंत्र के विरूद्ध भाजपा की साजिश की रणनीति है। निहित स्वार्थवश भारी बहुमत में आई ममता सरकार को परेशान किया जा रहा है। एक छोटे मुद्दे को बेवजह प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाकर भाजपा ने अपनी किरकिरी कराई है।



मंगलवार को अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर तंज कसते हुए कहा था कि, बीजेपी की ये अजब नीति है. यूपी के मुख्यमंत्री पर दिल्ली से एक अधिकारी को उनकी मर्जी के बगैर थोपा जा रहा है|सपा प्रमुख ने पश्चिम बंगाल का मुद्दा भी छेड़ते हुये कहा था कि, राज्य के मुख्यमंत्री की मर्जी के विरुद्ध एक अधिकारी को दिल्ली बुलाना सही नहीं है| अखिलेश ने कहा था कि, यूपी में डबल इंजन से राज्य को खींचने के झूठे वादे करने वालों के बीच खींचातानी जारी है|








आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें