Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

जीवन के राह पर यूं ही चल पड़ी थी जो ये बंजारन, न राह का पता था... न ही सफर का कारण: ऐश्वर्या सामल

  • by: news desk
  • 13 November, 2020
जीवन के राह पर यूं ही चल पड़ी थी जो ये बंजारन,  न राह का पता था... न ही सफर का कारण: ऐश्वर्या सामल

जीवन के राह पर यूं ही चल पड़ी थी जो ये बंजारन,

न राह का पता था... न ही सफर का कारण,

पर ये राह आसान न थी...


-------


कभी शोर ने... तो कभी शोर में छिपे सन्नाटे ने सताया,

कुछ दूर चली ही थी की, पितृसत्ता के हितधारक खडे़ हुए थे,

सुनसान उस राह में... इक साथी ने हाथ तो बढ़ाया ,

पर अफसोस समाज के जंजीरों से ... उसके पैर बंधे पडे़ थे!!!







ऐश्वर्या सामल

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें