Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

UP: सिद्धार्थनगर में 29 फर्जी शिक्षक किए गये बर्खास्त

  • by: news desk
  • 22 September, 2019
UP: सिद्धार्थनगर में 29 फर्जी शिक्षक किए गये बर्खास्त

 सिद्धार्थनगर : यूपी के सिद्धार्थनगर जिले में फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे नौकरी कर रहे शिक्षकों पर शिकंजा कसता जा रहा है। शनिवार को बीएसए रामसिंह ने जाली प्रमाणपत्रों के सहारे वर्षो से नौकरी कर रहे 29 शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया। इनकी तैनाती वर्ष 2014 में हुई थी। 



 



 इनसे जुड़े सभी दस्तावेज को डबल लाकर में सुरक्षित रखा गया है।पिछले माह विभाग ने 31 शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच कराई थी, जिसमें 29 के प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए। इनके खिलाफ कार्रवाई करने में विभाग तभी से जुटा हुआ था। लंबी जद्दोजहद के बाद यह कार्रवाई की गई। मुकदमा दर्ज कराने की जिम्मेदारी संबंधित खंड शिक्षाधिकारी को दी गई है।



 



विभाग ने एक साल में 56 शिक्षकों को बर्खास्त किया है।जिले में वर्ष 2013 से अब तक 92 फर्जी शिक्षक पकड़े जा चुके हैं। अब यह संख्या बढ़कर 121 हो गई है। अंदेशा है कि अभी कुछ और फर्जी शिक्षक जिले के विभिन्न विद्यालयों में कार्यरत हैं।



 



बीएसए रामसिंह ने कहा है कि,जांच के बाद 29 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया है। इनसे जुड़े कागजातों को डबल लाकर में रखवा दिया गया है। अभी जांच जारी है।



 



पुराना है फर्जी शिक्षकों की भर्ती का खेल



सिद्धार्थनगर जिले में फर्जी शिक्षकों की भर्ती का खेल पुराना है। वर्ष 2013 से अब तक सैकड़ों शिक्षक पकड़े जा चुके हैं। बावजूद इसके अभी तक एसटीएफ व विभाग इस खेल के मास्टर माइंड तक नहीं पहुंच पाया है। केवल शिकायतों के आधार पर ही फर्जी शिक्षक चिन्हित होते रहे हैं। बावजूद इसके विभाग ने कभी भी फर्जीवाड़े को गंभीरता से नहीं लिया।



 



बेसिक शिक्षा विभाग में एक साल के अंदर 56 शिक्षकों को बर्खास्तगी की जा चुकी है। वर्ष 2013 से अब तक कुल 92 फर्जी शिक्षक पकड़े जा चुके हैं। शुक्रवार को हुई कार्रवाई के बाद इनकी संख्या 121 हो गई है। शिकायत पर वर्ष 2018 में तत्कालीन डीएम कुणाल सिल्कू ने सीडीओ की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन किया था। 68 शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच की थी। 



 



 इसमें 38 शिक्षक जाली दस्तावेजों पर नौकरी करते हुए पकड़े गए थे। इन्हे बर्खास्त किया गया था।इसके बाद 12 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया। कुछ समय के अंतराल पर एक-एक कर छह और शिक्षक बर्खास्त किए गए।इस बार 29 फर्जी शिक्षक बर्खास्त किए गए। बेसिक शिक्षामंत्री स्वतंत्र प्रभार डा. सतीश द्विवेदी जनपद के इटवा विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं, उम्मीद है कि फर्जी शिक्षकों के लिए अब सिर्फ जेल का रास्ता ही बचेगा। देर सबेर अन्य फर्जी शिक्षकों पर भी कार्रवाई होगी।



 



इन शिक्षकों की हुई बर्खास्तगी



जिले में तैनात शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच में फर्जीवाड़ा मिलने का क्रम जारी है। शनिवार को बर्खास्त होने वाले शिक्षकों में गीतिका सिंह, शालिनी सिंह ज्योति श्रीवास्तव, राम प्रकाश सिंह आशीष सिंह, मनु कुमार सिंह, सुमन यादव, सरोज, उपाध्याय, रूपेश कुमार श्रीवास्तव, कनकलता सिंह, शोभा यादव, जितेंद्र कुमार तिवारी, सुभन्जय कुमार सिंह, मो. खान, मो. अजहर इमाम, अटल बिहारी सिंह, विनोद कुमार सिंह, मिक्की सिंह, अंशु सिंह, रिंक यादव, किरन सिंह, स्नेहलता बरनवाल, विकास राय, अवनीश कुमार सिंह, शबाना वारसी, नवीन उसका बाजार, विवेक सिंह, विजय कुमार यादव, रमेश चंद्र शुक्ल, विजय पाल यादव आदि शामिल हैं।



 



 


आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

Please LIKE TVL News Page. Thank you