Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

बिहार विधानसभा के अंदर शराब ही शराब: तेजस्वी ने CM नीतीश से पूछा -विधानसभा के अंदर से शराब की बोतलें कहां से आईं?

  • by: news desk
  • 30 November, 2021
बिहार विधानसभा के अंदर शराब ही शराब: तेजस्वी ने CM नीतीश से पूछा -विधानसभा के अंदर से शराब की बोतलें कहां से आईं?

पटना:  RJD नेता तेजस्वी यादव ने कहा,'अदभुत! बिहार विधानसभा परिसर के अंदर में शराब की बोतलें बरामद। अभी शीतकालीन सत्र चल रहा है। CM के चेंबर से मात्र चंद कदम की दूरी पर विभिन्न ब्रांड की शराब ही शराब उपलब्ध। कड़ी सुरक्षा के बीच चालू सत्र में ही विधानसभा में शराब मिल रही है, शेष बिहार की आप बस कल्पना कीजिए! शर्मनाक!



तेजस्वी यादव ने कहा,''' बिहार विधानसभा के अंदर शराब की बोतल कहां से आई ?मुख्यमंत्री को खुद मुआयना करना चाहिए। शराब माफिया के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर हमने देखी है। नीतीश कुमार के मंत्रियों को अपराध करने की छूट है। CM को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए|



तेजस्वी यादव ने कहा,'''विधानसभा परिसर में शराब ही शराब। यह अति है। मुख्यमंत्री सह गृहमंत्री नीतीश जी को अब एक सेंकड भी सत्ता में रहने का नैतिक अधिकार नहीं है। मुख्यमंत्री कल इसी परिसर में NDA के विधायकों को संकल्प दिला रहे थे। जो विधायक उनसे शराबबंदी की विफलता पर सवाल कर रहे थे उन्हें वो डाँट रहे थे।



बिहार में शराबबंदी लागू है। इसके बावजूद पिछले एक- दो महीने में ज़हरीली शराब पीने से सैकड़ों लोगों की मौत हो गई। जिसके बाद बिहार में शराब की चेकिंग का अभियान तेज हो गया है।राजधानी पटना सहित बिहार के अलग-अलग जिलों में लगातार छापामारी कर पुलिस शराब कारोबारियों और शराब पीने-पिलाने वालों को गिरफ्तार कर रही है। पुलिस बेडरूम से लेकर बाथरूम तक सभी जगहों पर बड़ी बेशर्मी से घुस जा रही है। लोगों की निजता का हनन करते हुए तलाशी की जा रही है। महिलाओं के कमरे और सामानों को सर्च किया जा रहा है|



इस बीच बिहार की पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी ने एक विडियो ट्वीट कर बिहार पुलिस पर बिना महिला पुलिसकर्मियों के दुल्‍हन के कमरों और कपड़ों की तलाशी लेने का आरोप लगाया है। राबड़ी देवी ने जो विडियो ट्वीट किया है वो किसी होटल का लग रहा है। होटल में शादी के लिए वर-वधू पक्ष ठहरे हैं। तभी वहां बिहार पुलिस पहुंची है जिसमें कोई भी महिला कर्मचारी नहीं है। एक पुलिस अधिकारी बारी-बारी कमरे खुलवाकर अलमारी, बेड के नीचे और दराजें चेक करता है। पुलिस अधिकारी जिन कमरों में जाता है वहां ज्‍यादातर महिलाएं होती हैं। ऐसे में एक जगह पुलिस अधिकारी यह भी कहते सुना जाता है कि, 'हम भी जानते हैं कि लड़की पक्ष के पास शराब नहीं होगी लेकिन क्‍या करें ऊपर से आर्डर है...।'



पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी ने बिहार पुलिस के इस रवैए पर कड़ा एतराज जताया है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा-बिहार पुलिस शराबबंदी के नाम पर बिना महिला पुलिसकर्मियों के दुल्हन के कमरों और कपड़ों की तलाशी ले रही है। यह निजता के अधिकार का उल्लंघन है। बिहार में शराब कैसे व क्यों पहुँच रही है,कौन पहुँचा रहा है? उसकी जाँच और खोजबीन नहीं लेकिन उल्टा सनकी सरकार महिलाओं को ही परेशान कर रही है?




बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने 29 नवंबर, 2021 को ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है ‘होटल में शादी के लिए तैयार हो रही बाथरूम में नहाती महिला को शराबबंदी के नाम पर तौलिया लपेट कर बाहर आने का आदेश दिया। 



राबड़ी देवी ने कहा,''नीतीश कुमार के सीधे आदेशानुसार पुलिसकर्मी सरेआम महिलाओं की निजता का हनन और अत्याचार कर रहे है। महिला पुलिस कहाँ है?जिनके घर बहु-बेटी नहीं, उन्हें सोचना चाहिए।’




राबड़ी देवी ने एक पोस्ट शेयर किया है,''जिसमे लिखा है,''पुलिस वाला बोला- पत्नी से कहिए टॉवल में बाहर आए … !


ये घटना मोतिहारी जिले की है। वाकया शुक्रवार रात हुआ। किस्सा बिहार के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति के हवाले से है, जिनके सीएम नीतीश कुमार से भी अच्छे ताल्लुकात हैं। उन्होंने मोतिहारी के एक होटल में आयोजित शादी समारोह में शराब की जांच करने आई पुलिस की कहानी सुनाई, जिसे सुनने के बाद किसी भी शख्स के दिलोदिमाग में पुलिसवालों के लिए कभी सहानुभूति नहीं आएगी।


प्रतिष्ठित एवं सामाजिक व्यक्ति कहते हैं- हमलोग wis… होटल में ठहरे थे, वहां शराब की जांच करने पुलिस आई। एक पुलिसवाले के कंधे पर एक सितारा था, वो इंस्पेक्टर था या जमादार, ये मुझे नहीं मालूम। लेकिन, उसका चेहरा नहीं भूल पाऊंगा।।



उन्होंने बताया कि कंधे पर एक सितारा टांग रखे पुलिसवाले ने बगल के कमरा का दरवाजा खटखटाया। उस कमरे में उनका (दास्तां सुनाने वाले का) परिचित पत्नी के साथ ठहरा था। दरवाजा खुलते ही पुलिसवाला कमरे में दाखिल हो गया और सहेजे हुए सामान को तलाशी के नाम पर बिखेरने लगा। इतना तो उसका हक बनता है, जब मुख्यमंत्री ने कह दिया है कि जरूरी नहीं सूचना सही हो, पर जानकारी मिलते ही पुलिस किसी भी वक्त और किसी भी जगह छापा मार सकती है, इसको मुद्दा नहीं बनाया जायेगा।



खैर, कमरे की तलाशी लेने के बाद पुलिसवाले ने बाथरूम का दरवाजा खोलने को कहा। तब कमरे में रुके यात्री ने बताया कि बाथरूम में उनकी श्रीमती स्नान कर रही हैं। उन्होंने पुलिसवाले से आग्रह किया कि वे कुछ देर के लिए बाहर जाएं। उनकी पत्नी कपड़े बदल लेती हैं, तब बाथरूम की जांच कर लें। लेकिन, पुलिसवाला कुछ भी सुनने को तैयार नहीं था। वो अपने सामने बाथरूम का दरवाजा खुलवाने की जिद पर अड़ गया और बोला पत्नी से कहिए टॉवल में बाहर आएं।



पुलिसवाले की ये बात सुनकर होटल में ठहरे दूसरे गेस्ट का खून खौल गया। लोगों और पुलिसवालों में बहस होने लगी। अड़ियल रवैया देखकर लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। सब्र का बांध पहले ही टूट जाता मगर लोगों ने वर्दी की लाज रखी । इस बीच कमरे में ठहरे यात्री ने बाथरूम का दरवाजा थोड़ा खुलवा कर पत्नी को कपड़े दिए। वो तैयार होकर बाहर आई और पुलिसवाला बाथरूम में झांककर होटल कर्मियों पर रौब झाड़ते हुए नीचे रिसेप्शन के पास चला गया। लोगों ने उस वर्दीधारी से बहस के दौरान ये तक कहा कि आप जैसों की एक ऐसी ही हरकत पर माननीय उच्च न्यायालय ने संज्ञान लिया, फिर भी पुलिस पब्लिक फ्रेंडली नहीं हो रही। तब जोश जोश में – पुलिसवाला कोर्ट और योर ऑनर को भी गाली देने से नहीं चूका।



https://www.thevirallines.net/patna-news-bihar-will-do-a-detailed-review-says-cm-nitish-on-deaths-caused-by-drinking-poisonous-liquor


गौरतलब है कि हाल में बिहार के अलग-अलग जिलों में जहरीली शराब की वजह से कई लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने एक-एक जिले में शराबबंदी की समीक्षा और राज्‍य में एक बार फिर 2016 की तरह का अभियान चलाकर शराब माफिया और शराब पीने-पिलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया। इसके बाद से बिहार पुलिस लगातार छापामारी कर रही है।



 नशा मुक्ति दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आज यानी शुक्रवार को ( November 26, 2021) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि,''शराब की सूचना मिलने पर पुलिस का छापेमारी करने जाना कोई गुनाह नहीं है। शादी समारोह हो या और कोई समारोह जब भी सूचना मिलेगी तो पुलिस जायेगी। नियमानुसार कार्रवाई हो, इसका ख्याल रखना जरूरी है। 



नीतीश कुमार ने कहा था कि,''कुछ लोग ऐसे बयान दे रहे हैं कि बाहर से आने वालों को शराब पीने की छूट देनी चाहिये। ऐसे बयान देने वालों के मन में जरूर कोई गड़बड़ करने वाली बात है। 


https://www.thevirallines.net/patna-news-bihar-alcohol-is-a-bad-thing-if-if-you-drink-liquor-you-will-die-says-cm-nitish-said-on-drug-de-addiction-day



मुख्यमंत्री ने कहा कि शराबबंदी को पूरी मजबूती से लागू करना होगा। सभी जिलों के जिलाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, उत्पाद अधीक्षक और लोक अभियोजक के साथ 15 दिनों में एक बार शराबबंदी को लेकर जरुर समीक्षा बैठक करें। उन्होंने कहा था कि शराब पीना अच्छी बात नहीं है। शराब बुरी चीज है। जहरीली शराब पियोगे तो मरोगे, इसे प्रचारित करने की जरूरत है। छात्र जीवन से ही हम शराब के खिलाफ रहे हैं। उस समय से ही मेरी इच्छा थी कि जब हमें काम करने का मौका मिलेगा तो शराबबंदी लागू करेंगे।





आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TVL News

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: https://twitter.com/theViralLines
ईमेल : thevirallines@gmail.com

You may like

स्टे कनेक्टेड