Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

मृतक व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी के परिजनों से मिलने महोबा जा रहे यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू और आराधना मिश्रा गिरफ्तार

  • by: news desk
  • 14 September, 2020
मृतक व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी के परिजनों से मिलने महोबा जा रहे यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू और आराधना मिश्रा गिरफ्तार

महोबा: महोबा के बहुचर्चित व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी की हत्या के बाद विपक्षी दल एक बार फिर योगी सरकार पर हमलावर है| क्रशर डीलर इंद्रकांत त्रिपाठी के परिजनों से मिलने महोबा जा रहे यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा को पुलिस ने डिटेन किया। यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के साथ हाथापाई भी हुई।




 सोमवार को यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मृतक व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी के परिजनों से मिलने महोबा जा रहे थे।। कांग्रेस के नेताओं को घाटमपुर पुलिस ने आगे जाने से रोक लिया। पुलिस ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और अराधना मिश्रा को हिरासत में लिया है। 




विधायक दल की नेता अराधना मिश्रा ने कहा कि,''व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने पुलिस पर कई गम्भीर आरोप लगाते हुए रंजिशन मार देने की आशंका जताई थी, हुआ भी वही अजय कुमार लल्लू जी के साथ उनके परिवार से मिलने जाते वक्त हमे गिरफ्तार करना साफ़ दर्शाता है कि तानाशाह सरकार नही चाहती कि सच सामने आए,पीड़ित का दर्द बाँटने तक की आज़ादी नही




प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि,''पुलिस ने घाटमपुर गेस्ट हाउस में डिटेन कर रखा है। कानून - व्यवस्था की दुहाई दे रही है। गुंडई के दम पर रोक दिया, 3 घंटे सड़क पर रखा। लाठी - बंदूक है की धौंस दिखाती है यह सरकार...हम जनता के प्रतिनिधि है, झेलेंगे यह तानाशाही।  लड़ेंगे अन्याय के खिलाफ,न्याय के लिए।





गौरतलब है कि बीते 8 सितंबर 2020 को झांसी-मिर्जापुर हाइवे पर सदिग्ध परिस्थितियों में व्यापारी को गोली लगी थी| इसके बाद उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने पूर्व एसपी मणिलाल पाटीदार पर गंभीर आरोप लगाए थे| इस मामले में मणिलाल पाटीदार, पूर्व एसओ देवेंद्र शुक्ला सहित 4 नामजद, व अधीनस्थों पर केस दर्ज किया गया है|




इंद्रकांत त्रिपाठी झांसी-मिर्जापुर हाइवे पर अपनी कार में गंभीर हालत में पाए गए थे। उनके गले को चीरते हुए गोली निकल गई थी। कानपुर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में 5 दिनों से इलाज चल रहा था। शुक्रवार और शनिवार को उनकी हालत बेहद गंभीर थी, रविवार को इलाज के दौरान हो गई। रविवार देर रात पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।




प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू का कहना है, 'एक व्यक्ति जो अपना वीडियो वायरल करता है, जिसने स्पष्ट रूप से कहा है कि मेरी जान को खतरा है। महोबा के पुलिस कप्तान के द्वारा 6 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई, यह पुलिसिया राज है। पिछले समय से इस बात का अंदेशा रहा, अब तो स्पष्ट हो गया है सरकार, पुलिस, अधिकारी लगातार गठजोड़ करके उत्तर प्रदेश की जनता का उत्पीड़न करने और परेशान करने का काम कर रहे हैं।'




प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आज वो व्यापारी हम लोगों के बीच नहीं रहा है, जिसकी हत्या हो गई है। मुकदमे दर्ज हुए अब तक क्यों कार्रवाई नहीं हुई। हमारे मुख्यमंत्री आखिर चुप क्यों है। जिनके खिलाफ मुकदमा हुआ वे जेल क्यों नहीं भेजे गए। आम आदमी सुरक्षित क्यों नहीं है, किसी की जान की कीमत नहीं है।




विधायक दल की नेता अराधना मिश्रा ने कहा कि महोबा में व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने पहले ही वीडियो जारी करके दे दिया था। इसके बाद मुकदमा लिखा गया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह इस बात का प्रमाण है कि यूपी में अपराध रुक क्यों नहीं रहा है, इसलिए कि अपराधियों का संरक्षण सत्ता में बैठे लोगों को है। ऐसे में यदि अपराधी खुद प्रशासन में बैठा हो तो अपराध रुक नहीं सकता है।




अराधना मिश्रा ने कहा, 'जिस पुलिस अधिकारी पर व्यापारी ने आरोप लगाया था, उस समय रहते कार्रवाई की गई होती, स्वयं मुख्यमंत्री ने संज्ञान लिया होता तो यह घटना होने से बचाई जा सकती थी। प्रियंका गांधी की अपील पर हम लोग उस परिवार को सांत्वना देने जा रहे थे। मैं और प्रदेश अध्यक्ष अयज कुमार लल्लू के साथ जा रहे थे। हमारे पास न कार्यकर्ता और न ही भीड़ है। इसके बाद भी पुलिस ने हमें जबरन रोक लिया और आगे नहीं जाने दे रही है। जिस तरह से हमें रोका यह पूरी तरह से असंवैधानिक है। लेकिन कांग्रेस पार्टी डरने वाली नहीं है, हमारा संघर्ष जारी रहेगा।'





बता दें कि इंद्रकांत त्रिपाठी का क्रशर है और वे माइनिंग के लिए विस्फोटक सप्लाई करते थे| 5 सितंबर को इद्रकांत त्रिपाठी ने एक वीडियो वायरल कर आरोप लगाया था कि एसपी मणिलाल पाटीदार के दबाव में उन्हें 6 लाख रुपये महीना घूस देते हैं|लेकिन, लॉकडाउन में धंधा मंदा हो जाने की वजह से जब उन्होंने आगे से घूस देने में असमर्थता ज़ाहिर की तो एसपी ने उनसे कहा कि अगर पैसा नहीं दोगे तो तुम्हें गोली मरवा देंगे| हमारे पास इतनी बड़ी फ़ोर्स है कि कोई तुम्हें कहीं भी गोली मार देगा| इसके बाद 8 सितंबर को उन्हें गोली मार दी गई| मामले में 9 सितंबर को आईपीएस मणिलाल पाटीदार को सस्पेंड करते हुए उनके खिलाफ हत्या की कोशिश की एफआईआर दर्ज की गई|




इंद्रकांत गोली कांड से पहले का धमकी भरा एक ऑडियो भी वायरल हो रहा है| इस ऑडियो में टॉप 10 अपराधी आशु भदौरिया व्यापारी के साले को धमकी देता नजर आ रहा है| वह कह रहा है कि राजा साहब के नाराज होने पर अंजाम भुगतना होगा| बताया जा रहा है कि गोली मारने के चंद घंटे पहले ही यह धमकी दी गयी थी|








आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए