Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

जुलाई 2017 में पीएम मोदी ने इज़राइल का दौरा किया, तब से शुरू हो गई फोन टैपिंग, SC के जज करें जासूसी की जांच: कमलनाथ

  • by: news desk
  • 21 July, 2021
जुलाई 2017 में पीएम मोदी ने इज़राइल का दौरा किया, तब से शुरू हो गई फोन टैपिंग, SC के जज करें जासूसी की जांच: कमलनाथ

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ ने पेगासस जासूसी मामले में केंद्र सरकार से सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा सौंपने की मांग की है और कहा है कि सरकार कोर्ट में शपथ-पत्र देकर कहे कि उसने ऐसा कोई सॉफ्टवेयर नहीं खरीदा है| इसके साथ ही कमलनाथ ने कहा कि इस कांड से हमारे अधिकारों पर सबसे बड़ा हमला हुआ है| उन्होंने कहा कि यह पिछले कुछ दिनों में सामने आया है और अगले 15 दिनों में यह मामला और गरमाएगा|



मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि,पेगासस का इश्यू अगले 15 दिनों में रफ्तार पकड़ेगा। एक फ्रांसीसी संगठन फॉरबिडन स्टोरीज और एमनेस्टी इंटरनेशनल ने इस पर शोध किया। उन्होंने इसका unveiled किया है। जुलाई 2017 में पीएम मोदी ने इज़राइल का दौरा किया और तब से फोन टैपिंग शुरू हो गई|




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने पूछा  कि,'' ये (पेगासस) राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खरीदा गया या मोदी जी की सुरक्षा के लिए? अगर सरकार के हाथ साफ हैं तो कोर्ट में एफिडेविट दें कि हमने ये(पेगासस) कभी नहीं खरीदा|उन्होंने कहा कि जांच करने वाला न्यायाधीश भी वैसा होना चाहिए जिसकी पहले से जासूसी न की गई हो|



कमलनाथ ने कहा कि,''जासूसी का सॉफ़्टवेयर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिये ख़रीदा गया, या मोदी की सुरक्षा के लिये| क्या किसी देश में ऐसा हुआ है जहां सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की जासूसी हो, और फिर उन्हें राज्यसभा की सदस्यता दी गई हो| 



पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पेगासस मामले का खुलासा कांग्रेस ने नहीं, बल्कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थानों ने किया है| उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जुलाई 2017 में इजरायल के दौरे पर गए थे| यह जासूसी भी 2017 और 2018 में शुरू हुई| उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में मोबाइल फोन कंपनियों के जरिए लाखों लोगों की निगरानी की गई है|



कमलनाथ ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए फ्रांस ने जांच शुरू कर दी है| अन्य देश भी जल्द ही जांच शुरू करने जा रहे हैं तो भारत में इसकी जांच क्यों नहीं हो रही? उन्होंने कहा कि फैन्टम जैसे दूसरे स्पाई सॉफ्टवेयर भी इसी तरह के हैं|उन्होंने कहा कि एनएसओ ग्रुप ने कहा है कि वह केवल संप्रभु सरकारों को ही स्पाईवेयर उपलब्ध कराता है। उन्होंने कहा कि ऐसी खरीददारी के लिए केन्द्र की एक तकनीकी समिति मूल्यांकन करती है।





केंद्र सरकार के'ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई' बयान पर सरकार को घेरा

केंद्र सरकार के'ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई' बयान पर कमलनाथ ने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के इस बयान को भी झूठ बताया| कमलनाथ ने कहा कि,''केंद्र कहता है कि देश में किसी की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई, इतना बड़ा झूठ। मध्य प्रदेश में कितनी मौतें ऑक्सीजन के कारण हुईं। राज्य सरकार को कहते हैं कि आप कोविड के आंकड़े मत भेजना, कल राज्यसभा में कहते हैं कि हम तो केवल राज्यों से आंकड़े इकट्ठा करते हैं|




महंगाई पर साधा निशाना


मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने केन्द्र सरकार पर हमला जारी रखते हुए कहा कि केन्द्र सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था चौपट कर दी हैं और आज महंगाई से हर वर्ग परेशान है।कमलनाथ ने कहा कि महंगाई आज हर वर्ग की कमर तोड़ रही है। हमारा मध्यम वर्ग आज गरीब वर्ग बन गया है, गरीब वर्ग और नीचे गया है, इनमें से कुछ तो भिखारी बन गए|




कमलनाथ ने कहा कि आज देश में पेट्रोल, डीजल, एलपीजी रसोई गैस, तुअर, मूंग, दूध, घी एवं अंडा सहित सभी आवश्यक चीजों के दाम में बेहताशा वृद्धि हुई है। आज यह महंगाई हर वर्ग की कमर तोड़ रहा है। उन्होंने कहा कि आज देश में आर्थिक गतिविधि घट रही है, जिससे हर व्यक्ति प्रभावित हो रहा है









आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें