Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

कमलेश तिवारी हत्याकांड: मौलाना मोहसिन शेख, फैजान और खुर्शीद अहमद पठान को लिया गया हिरासत में, हत्या के पीछे 2015 का बयान

  • by: news desk
  • 19 October, 2019
 कमलेश तिवारी हत्याकांड: मौलाना मोहसिन शेख, फैजान और खुर्शीद अहमद पठान को लिया गया हिरासत में, हत्या के पीछे 2015 का बयान

उत्तर प्रदेश: हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने आज यानी शनिवार प्रेस कॉन्फ्रेंस की| ओपी सिंह ने कहा कि कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में अभी तक तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है| उन्होंने कहा कि हत्या के पीछे कमलेश तिवारी का 2015 में दिया गया एक बयान था| हिरासत में लिए गए तीनों लोग सूरत के रहने वाले हैं| पुलिस फिलहाल इन सभी से पूछताछ कर रही है|



 



यूपी और गुजरात पुलिस की एक संयुक्त टीम ने 3 व्यक्तियों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है। इनके नाम मौलाना मोहसिन शेख, फैजान, और खुर्शीद अहमद पठान हैं। दो अन्य आरोपियों को भी हिरासत में लिया गया था, लेकिन बाद में रिहा कर दिया गया।



 



ओपी सिंह ने आगे कहा, प्रारंभिक पूछताछ में, हिरासत में लिए गए तीन लोगों की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि अभी तक स्थापित नहीं हुई है। जरूरत पड़ी तो हम उन्हें रिमांड में लेंगे, उन्हें यूपी लाएंगे और उनसे पूछताछ करेंगे। प्राथमिकी में, दो लोगों को साजिशकर्ता के रूप में नामित किया गया था - मौलाना अनवारुल हक और मुफ्ती नईम काज़मी। इन 2 को भी हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। हम गुजरात, बिजनौर, लखनऊ और अन्य स्थानों की निगरानी करेंगे जो जांच के दौरान सामने आएंगे।



 



उन्होंने कहा, 'हम गुजरात आतंकवाद-रोधी दस्ते (एटीएस) के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, अब तक किसी भी आतंकवादी संगठन के साथ कोई संबंध स्थापित नहीं हुआ है। हम सभी विवरणों पर गौर करेंगे और कार्रवाई करेंगे। प्राइमा फेशी यह एक कट्टरपंथी हत्या थी, इन लोगों को 2015 में दिए गए भाषण से (कमलेश तिवारी) ने कट्टरपंथी बनाया था, लेकिन जब हम बाकी अपराधियों को पकड़ते हैं तो बहुत कुछ सामने आ सकता है।



 



ओपी सिंह ने कहा, सुरक्षा के सभी इंतजाम किए गए थे, उन्हें (कमलेश तिवारी को) एक गनर और एक पुलिसकर्मी दिया गया, दोनों उनके साथ थे। पुलिस प्रशासन की ओर से कोई ढिलाई नहीं बरती गई।



 



वहीं कमलेश तिवारी मर्डर पर एसएसपी मुरादाबाद अमित पाठक ने कहा, हमें ट्रेन में सवार संदिग्धों का इनपुट मिला था। एसपी रामपुर और एसटीएफ टीमों के साथ समन्वय में गोरखपुर - देहरादून एक्सप्रेस की जाँच की गई। हमें कुछ लोग मिले जिनकी आईडी को सत्यापित करने की आवश्यकता थी, वह काम लगभग पूरा हो गया है। किसी को हिरासत में नहीं लिया गया है। 4-5 लोगों से पूछताछ की जा रही है। सत्यापन के बाद ही कोई टिप्पणी की जा सकती है।



 



बता दें कि तब हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी ने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान दिया था| इसे लेकर काफी हंगामा हुआ था, जिसके बाद कमलेश तिवारी की विवादित बयान देने के चलते गिरफ्तारी हुई थी| वह फिलहाल जमानत पर रिहा चल रहे थे|इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका) हटा दिया था|  



 



राजधानी लखनऊ के नाका इलाके में हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की गला रेतने के बाद गोली मार कर हत्या कर दी गई| नाका में हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी हत्याकांड से लोगों में आक्रोश। कमलेश के समर्थकों ने शुरू किया खुर्शेद बाग़ कालोनी में प्रदर्शन। दुकानें बंद हुई बंद। बड़ी संख्या में पुलिस बल व पीएसी की गई थी तैनात।  



 



कमलेश तिवारी की गला रेतने के बाद गोली मार दी गई| गिफ्ट देने के बहाने घुसे थे हमलावर| पहले गला रेता फिर गोली मार दी|कमलेश तिवारी के कार्यालय में हुई हत्या| लखनऊ के खुर्शीदबाग इलाके में मर्डर| मिठाई के डिब्बे में चाकू,तमंचा लाए थे| एक ने गला रेता, दूसरे ने गोली मारी| कमलेश तिवारी की हत्या के बाद प्रदर्शन| हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी अपने बयान को लेकर बहुत विवाद में थे| लखनऊ के खुर्शीदबाग इलाके में प्रदर्शन| तनाव के चलते दुकाने बंद कराई गई| आक्रोशित लोगों ने हत्या के विरोध में सड़क पर निकलकर प्रदर्शन किया,इस दौरान उन्होंने जबरन दुकानें बंद करा दी गई थी|


Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

मोबाइल नंबर : +91-9999-65-68-69
ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
loading...
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आम मुद्दे और पढ़ें