Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

झांसी पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन के टॉयलेट में मिला बस्ती निवासी प्रवासी मजदूर का शव, पंखुड़ी पाठक ने रेलवे प्रशासन घेरा, पूछा- इतनी बड़ी लापरवाही कैसे..?

  • by: news desk
  • 29 May, 2020
झांसी पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन के टॉयलेट में मिला बस्ती निवासी प्रवासी मजदूर का शव, पंखुड़ी पाठक ने रेलवे प्रशासन घेरा, पूछा- इतनी बड़ी लापरवाही कैसे..?

लखनऊ:
 उत्तर प्रदेश के झांसी रेलवे स्टेशन पर खड़ी श्रमिक स्पेशल ट्रेन के शौचालय में गुरुवार को 38 वर्षीय प्रवासी मजदूर का शव मिला है| शव के पास मिले कागजात से मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के बस्ती निवासी मोहन लाल शर्मा के रूप में हुई है| शर्मा मुंबई में दिहाड़ी मजदूरी करता था| वह खुद से मुंबई से झांसी पहुंचा था, जहां प्रशासन ने प्रवासी मजदूरों को रोक लिया था|  23 मई को इन प्रवासी मजदूरों को गोरखपुर जाने वाली ट्रेन में बिठा दिया गया था|




इसको लेकर कांग्रेस ने रेलवे प्रशासन घेरा और सवाल उठाया| कांग्रेस ने कहा ''बस्ती निवासी मोहन लाल शर्मा की लाश आज झाँसी में रुकी ट्रेन में मिली। गोरखपुर भेज दिया।  माना जा रहा है कि लाश पाँच दिन तक ट्रेन में रही।  इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हो सकती है?  दुःखद!




पंखुड़ी पाठक ने कहा ''बस्ती निवासी मोहन लाल शर्मा की लाश आज झाँसी में रुकी ट्रेन में मिली।  मुंबई में मज़दूरी करने वाले मोहन लाल झाँसी पहुँचे थे और वहाँ से प्रशासन ने दूसरी ट्रेन से गोरखपुर भेज दिया।  माना जा रहा है कि लाश पाँच दिन तक ट्रेन में रही।  इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हो सकती है?  दुःखद!






बता दें कि कोरोना संकट काल और लॉकडाउन में प्रवासी मजदूर की एक ऐसी दर्दनाक तस्वीर सामने आई है, दिल को झोकझोर कर देने वाली ये घटना झांसी की है| जहां  ट्रेन की टॉयलेट में एक प्रवासी मजदूर का शव पड़ा मिला| बताया जा रहा है कि 23 मई को ये श्रमिक झांसी से श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बस्ती गया था| ये ट्रेन 27 मई को आधी रात वापस लौटी| ट्रेन जब वापस यॉर्ड में गई, तो पता चला कि ट्रेन की टॉयलेट में एक श्रमिक का शव पड़ा हुआ है| शव के पास मिले कागजात से मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के बस्ती निवासी मोहन लाल शर्मा के रूप में हुई है|




मोहन मुंबई में काम करके अपने घर बस्ती जाना चाह रहा था| वो बस से झांसी पहुंचा था. झांसी से तो जीवित अपने घर बस्ती के लिए रवाना हुआ था, लेकिन ट्रेन के वापस झांसी पहुंचने पर श्रमिक की डेडबॉडी देखकर रेलवे के भी हाथ-पैर फूल गए| बताया जा रहा है जब 27 मई श्रमिक ट्रेन के झांसी पहुंचने के बाद स्टेशन पर लोको स्टाफ कोच की जांच कर रहा था| तभी कोच नंबर  एस ई 068 226 की टॉयलेट में एक शव देखकर सभी घबरा गए| सूचना मिलते ही मौके पर अधिकारी, पुलिस और चिकित्सक पहुंच गए|लोको स्टाफ द्वारा आरपीएफ व जीआरपी, रेलवे डॉक्टर को मेमो दिया गया| इसके बाद आरपीएफ, जीआरपी, थाना प्रेमनगर पुलिस का स्टाफ लोको पहुंच गया| वहां पर डेथ बॉडी को गाड़ी से नीचे उतारा गया|मौके पर जीआरपी के उप निरीक्षक विजय नारायण पांडे ने अग्रिम कार्यवाही कर शव को पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज भेज दिया|




मृतक की जेब से मिले कागजातों से उसकी शिनाख्त हुई| उसके आधार कार्ड के अनुसार, मृतक का नाम मोहन शर्मा पुत्र सुभाष शर्मा उम्र 38 वर्ष निवासी हलुआ थाना गौर जिला बस्ती पाया गया|मोहन शर्मा की मौत किन कारणों से हुई है, इसकी जांच जारी है| फिलहाल, अभी तक उसका पोस्टमार्टम नहीं हुआ है|  डेथ बॉडी के पास से तलाशी में आधार कार्ड, पेन कार्ड, एटीएम, एक यात्रा टिकट 2967 02 88 झांसी से गोरखपुर 23 मई 2020 का मिला| 







आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए