Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

मायावती ने फिर बोला कांग्रेस पर हमला, बोली-नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा, CM अशोक गहलोत को करें तुरन्त बर्खास्त

  • by: news desk
  • 03 January, 2020
  • 0
मायावती ने फिर बोला कांग्रेस पर हमला, बोली-नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा, CM अशोक गहलोत को  करें तुरन्त बर्खास्त

लखनऊ: राजस्थान के कोटा में जे के लोन अस्पताल में हुई बीमार शिशुओं की मृत्यु पर बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती ने आज फिर कांग्रेस पर हमला बोला | कोटा में बच्चों की मौत पर उन्होने कहा कि,राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी कमियों को छिपाने के लिए आयदिन चोरी व ऊपर से सीनाजोरी व गैर-जिम्मेवारान् था अब राजनैतिक बयानबाजी करना अति शर्मनाक व निन्दनीय है|




मायावती ने ट्वीट किया कि,राजस्थान की कांग्रेसी सरकार के सी.एम.  श्री गहलोत का, कोटा में   लगभग 100 मासूम बच्चों की हुई मौत पर, अपनी कमियों को छिपाने के लिए आयदिन चोरी व ऊपर से सीनाजोरी वाले अर्थात् गैर-जिम्मेवारान् व असंवेदनशील तथा अब राजनैतिक बयानबाजी करना, यह अति शर्मनाक व निन्दनीय




उन्होने आगे कहा कि ऐसे में कांग्रेस का लगभग 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहाँ अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिये। तो यह बेहतर होगा। वरना वहाँ और भी माओं की कोख उजड़ सकती है।



 

ऐसा लग रहा है बीएसपी सुप्रीमो मायावती और कांग्रेस के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है| बीएसपी सुप्रीमो मायावती को उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी की अति सक्रियता अच्छी नहीं लग रही है दूसरी ओर आज राजस्थान में बीएसपी के 6 विधायक जो सितंबर 2019 में कांग्रेस में शामिल हो गए थे वे आज दिल्ली में सोनिया गांधी से मिलकर पार्टी की औपचारिक सदस्यता ले ली है| लेकिन जिस तरह से प्रियंका गांधी की टीम उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले सक्रिय होती दिख रही है अब मायावती भी ज्यादा देर तक चुप बैठनी वाली नही हैं|





मायावती ने कल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा था | उन्होने कहा था, कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय महासचिव ( कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी) कोटा में जाकर मृतक बच्चों की ‘‘माओं‘‘ से नहीं मिलती हैं तो यू.पी. पीड़ितों के परिवार से मिलना केवल इनका यह राजनैतिक स्वार्थ व कोरी नाटकबाजी ही मानी जायेगी|




मायावती ने कहा था, क़ि कांग्रेस शासित राजस्थान के कोटा जिले में हाल ही में लगभग 100 मासूम बच्चों की मौत से माओं का गोद उजड़ना अति-दुःखद व दर्दनाक। तो भी वहाँ के सीएम श्री गहलोत स्वयं व उनकी सरकार इसके प्रति अभी भी उदासीन, असंवेदनशील व गैर-जिम्मेदार बने हुए हैं, जो अति-निन्दनीय। उन्होने कहा कि  किन्तु उससे भी ज्यादा अति दुःखद है कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व व खासकर महिला महासचिव की इस मामले में चुप्पी साधे रखना। अच्छा होता कि वह यू.पी. की तरह उन गरीब पीड़ित माओं से भी जाकर मिलती, जिनकी गोद केवल उनकी पार्टी की सरकार की लापरवाही आदि के कारण उजड़ गई हैं।




मायावती ने कहा क़ि यदि कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय महासचिव राजस्थान के कोटा में जाकर मृतक बच्चों की ‘‘माओं‘‘ से नहीं मिलती हैं तो यहाँ अभी तक किसी भी मामले में यू.पी. पीड़ितों के परिवार से मिलना केवल इनका यह राजनैतिक स्वार्थ व कोरी नाटकबाजी ही मानी जायेगी, जिससे यू.पी. की जनता को सर्तक रहना है।




वहीं, उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने गुरुवार को पलटवार करते हुए कहा था, 23 लोगों की पुलिसिया राज में हत्या: बहन जी को पता नहीं|अम्बेडकरवादी चिंतक व पुलिस अधिकारी दारापुरी जी गिरफ्तार: बहनजी मौन,दलितों-पिछड़ों और वंचितों का चौतरफा उत्पीड़न:बहनजी ख़ामोश| इस खामोशी को क्या नाम दूं..? 




सोनभद्र आदिवासी हत्याकांड: बहनजी मौन

 उन्नाव रेप : बहनजी मौन  

उन्नाव रेप2 : बहनजी मौन  

शाहजहाँपुर रेप: बहनजी मौन 

कानपुर डेंगू से मौतें : बहनजी मौन  

यूपी में पुलिस ज़ुल्म: बहनजी  मौन  और तो और बाबा साहेब के संविधान पे खुला हमला: बहनजी मौन आखिर बहनजी के चुप्पी का राज क्या है|

इस खामोशी को क्या नाम दूं..? 







आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए