Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

कांग्रेस पर मायावती का हमला, कहा-प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा का असली कसूरवार, बीजेपी को दी सलाह

  • by: news desk
  • 23 May, 2020
 कांग्रेस पर मायावती का हमला, कहा-प्रवासी श्रमिकों की दुर्दशा का असली कसूरवार, बीजेपी को दी सलाह

लखनऊ: कोरोनावायरस खतरे की वजह से बने हालात के चलते लगातार पलायन कर रहे मजदूरों को लेकर बहुजन समाज पार्टी (BSP) अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोला, साथ ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी निशाना साधा है|दरअसल ''कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार (16 May) को दिल्ली में सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास प्रवासी श्रमिकों के साथ बातचीत की थी| कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की ओर से आज इस मुलाकात की डॉक्यूमेंटरी जारी की गई है| जिसको लेकर मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोला|



BSP अध्यक्ष मायावती ने कहा कि लाॅकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने सम्बंधी जो वीडियो दिखाया जा रहा है वह हमदर्दी वाला कम व नाटक ज्यादा लगता है।  उन्होने कहा ''कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता|




बहुजन समाज पार्टी (BSP) अध्यक्ष मायावती ने ट्वीट किया, आज पूरे देश में कोरोना लाॅकडाउन के कारण करोड़ों प्रवासी श्रमिकों की जो दुर्दशा दिख रही है उसकी असली कसूरवार कांग्रेस है क्योंकि आजादी के बाद इनके लम्बे शासनकाल के दौरान अगर रोजी-रोटी की सही व्यवस्था गाँव/शहरों में की होती तो इन्हें दूसरे राज्यों में क्यों पलायन करना पड़ता..?




मायावती ने आगे कहा ''वैसे ही वर्तमान में कांग्रेसी नेता द्वारा लाॅकडाउन त्रासदी के शिकार कुछ श्रमिकों के दुःख-दर्द बांटने सम्बंधी जो वीडियो दिखाया जा रहा है वह हमदर्दी वाला कम व नाटक ज्यादा लगता है। कांग्रेस अगर यह बताती कि उसने उनसे मिलते समय कितने लोगों की वास्तविक मदद की है तो यह बेहतर होता।



 उन्होने कहा ''साथ ही, बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकारें कांग्रेस के पदचिन्हों पर ना चलकर, इन बेहाल घर वापसी कर रहे मजदूरों को उनके गांवों/शहरों में ही रोजी-रोटी की सही व्यवस्था करके उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की नीति पर यदि अमल करती हैं तो फिर आगे ऐसी दुर्दशा इन्हें शायद कभी नहीं झेलनी पड़ेगी।




मायावती ने कहा बीएसपी के लोगों से भी पुनः अपील है कि जिन प्रवासी मजदूरों को उनके घर लौटने पर उन्हें गाँवों से दूर अलग-थलग रखा गया है तथा उन्हें उचित सरकारी मदद नहीं मिल रही है तो ऐसे लोगों को भी अपना मानकर उनकी भरसक मानवीय मदद करने का प्रयास करें। मजलूम ही मजलूम की सही मदद कर सकता है।





कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार (16 May) को दिल्ली में सुखदेव विहार फ्लाईओवर के पास प्रवासी श्रमिकों के साथ बातचीत की| कांग्रेस सांसद राहुल गांधी की ओर से आज इस मुलाकात की डॉक्यूमेंटरी जारी की गई है| वीडियो में घर लौट रहे प्रवासी मज़दूरों ने अपना दर्द बंया किया गया है|  ये प्रवासी मजदूर हरियाणा से उत्तर प्रदेश के झांसी पैदल जा रहे थे| इस वीडियो में एक प्रवासी महिला यह कह रही है कि वे तीन दिन से भूखे हैं| भूख से मर रहे हैं| उसके साथ बच्चे हैं, घर नहीं जाए तो क्या करें..?




प्रवासियों ने राहुल को बताया कि उनका घर से बाहर निकलना गुनाह हो गया था। पुलिस के अलावा स्थानीय लोग भी उन्हें बाहर निकलने पर मारते थे। पुलिस वाले दो बार आते थे। एक महिला ने भावुक होते हुए राहुल से कहा कि हमें हमारे गांव पहुंचा दीजिए। हमें वापस हरियाणा नहीं पहुंचाना। हमें गांव जाना है। मजदूरों ने बताया कि वे हरियाणा में जहां रहते थे वहां पांच-पांच हजार का सामान छूट गया है जो वापस नहीं आ सकता।









Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें

Please LIKE TVL News Page. Thank you