Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

Cyclone Amphan: उत्तर 24 परगना में Cyclone Amphan के लैंडफॉल करने के बाद तेज हवाओं के साथ भारी बारिश का प्रकोप जारी

  • by: news desk
  • 20 May, 2020
Cyclone Amphan: उत्तर 24 परगना में Cyclone Amphan के लैंडफॉल करने के बाद तेज हवाओं के साथ भारी बारिश का प्रकोप जारी

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान अम्फान बुधवार को जब पश्च‍िम बंगाल में दस्तक देगा तब बहुत ही भयानक रूप ले लेगा| बुधवार सुबह 11:30 बजे चक्रवात अम्फान करीब 125 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण-पूर्व दीघा (पश्चिम बंगाल) में था। दीघा, पश्चिम बंगाल और हटिया द्वीप समूह, बांग्लादेश के बीच पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटों को पार करने वाला है। लैंडफॉल की प्रक्रिया दोपहर से शुरू होगी




ओडिशा में तेज हवाओं की वजह से पेड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं। फायर सर्विसेज टीम वाहनों की आवाजाही, आवश्यक वस्तुओं, और आपातकालीन सेवा कर्मियों की सुविधा के लिए भद्रक में आर एंड बी कार्यालय के पास सड़क पर गिरे पेड़ों को हटा रही है।



Cyclone Amphan Updates:



Amphan ने सागर द्वीप में2:30बजे लैंडफॉल करना शुरू किया था जो 7:30-8बजे तक खत्म होने का अनुमान है। ज्यादा संख्या में पेड़ उखड़ चुके हैं,बिजली की तारें,फसलें,टेलिकॉम और इमारतों को नुकसान पहुंचा है पर साथ ही टीमें मरम्मत के काम में जुट गई हैं: प्रदीप कुमा जेना IAS SRC,ओडिशा



पश्चिम बंगाल: उत्तर 24 परगना में Cyclone Amphan के लैंडफॉल करने के बाद तेज हवाओं के साथ भारी बारिश का प्रकोप जारी।




ओडिशा: जगतसिंहपुर में अम्फान चक्रवात की वजह से जारी भारी वर्षा और तूफान के चलते एक भारी पेड़ घास-फूस और मिट्टी से बनी एक झोंपड़ी के छत पर गिर गया जिसे अग्निशमन विभाग के लोग हटाने की कोशिश कर रहे हैं




पश्चिम बंगाल: साउथ 24 परगना के बक्खाली गांव में #\अम्फान का प्रकोप जारी। हवा की तेज रफ्तार के साथ भारी बारिश की वजह से चक्रवात तीव्र रूप ले रहा है।




Amphan सुंदरबन के पास पश्चिम बंगाल तट के दीघा और हातिया बांग्लादेश को बीच से पार कर रहा है। लैंडफॉल प्रक्रिया जारी रहेगी और उसे पूरा होने में 2-3 घंटे लगेंगे: शाम 4:30 बजे जारी बुलेटिन में IMD; दीघा






हवा की सबसे ज्यादा रफ्तार साउथ और नॉर्थ24 परगना और ईस्ट मिदनापुर जिलों में होगी, जो 155-165 से 185Km/hr, ये रफ्तार लैंडफॉल प्रक्रिया के साथ बढ़ना शुरू हो चुकी है| चक्रवात के कारण भारी संख्या में पेड़ उखडेंगे। कच्चे, मिट्टी, घास फूस और टीन के घरों को भारी नुकसान पहुंचेगा: IMD DG मृत्युंजय मोहापात्र




सभी टीमों के पास सेटेलाइट संचार सिस्टम है। हमारे पास अत्याधुनकि पेड़ कटाई और खंभों की कटाई के यंत्र हैं। दोनों राज्यों में 41 टीमों का प्लेसमेंट हैं बंगाल में सिर्फ दो टीमें रिजर्व में रखी गई हैं जिसमें से एक टीम अभी कोलकाता में तैनात की जा रही है| तटों से लोगों को निकालने का काम जारी है। पश्चिम बंगाल से अभी पांच लाख और ओडिशा में 1,58,640 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया है:NDRF के DG एस. एन. प्रधान




लैंडफॉल का सिलसिला शुरू हो चुका है। चक्रवात के बाद असल में  NDRF का काम शुरू होगा। काम और बढ़ने वाला है| दो हमारे कमांडेंट्स हैं,ओडिशा और बंगाल में हमारी बटालियनें हैं। ओडिशा वाले कंमाडेंट बालासोर में कैंप कर रहे हैं और बंगाल के कंमांडेंट काकद्वीप में कैंप कर रहे हैं। ओडिशा में 20 टीमें ग्राउंड पर तैनात कर दी गई हैं: NDRF के DG एस. एन. प्रधान




पश्चिम बंगाल: NDRF के जवानों ने पूर्वी मिदनापुर जिले के दीघा और ओडिशा सीमा के बीच सड़क पर गिरी बिजली के तारों को साफ किया और पेड़ों को हटाया।




पश्चिम बंगाल: ईस्ट मिदनापुर में NDRF अम्फान चक्रवात के चलते जारी भारी तूफान और बारिश के बीच राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई है। वीडियो में भारी आंधी की वजह से सड़क के बीच में गिरे पेड़ को हटाया जा रहा है।




दोपहर 2:30 बजे से शुरू होने वाला लैंडफॉल लगभग 4 घंटे तक जारी रहेगा। पश्चिम बंगाल में बादलों की दीवार का आगे वाला भाग धरती के करीब आता नज़र आ रहा है: निदेशक, IMD भुवनेश्वर 



पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल, साउथ 24 परगना काकद्वीप में चक्रवात अम्फान की तीव्रता बढ़ती हुई नज़र आई। तेज हवाओं के साथ भारी वर्षा का प्रकोप जारी।





पश्चिम बंगाल: दीघा में तेज़ हवा चलने के साथ भारी बारिश हो रही है। 



आज शाम 4 बजे के आस-पास अम्फान चक्रवात उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर जाते हुए पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों दीघा और हातिया को पार करते हुए 155-165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा के साथ 185 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से सुंदरबन के पास पहुंचेगा: IMD






लैंडफॉल 4 बजे से शुरू होने की उम्मीद है। ओडिशा तट में हवा की रफ्तार 100-125 किलोमीटर है, बालासोर में शाम तक तेज़ हवा का असर रहेगा। 24 घंटे बाद मौसम लगभग साफ हो जाएगा: एच.आर. बिस्वास, निदेशक, भारतीय मौसम विज्ञान विभाग, भुवनेश्वर 



चक्रवात अम्फान दोपहर 12:30 बजे बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी के ऊपर दीघा, पश्चिम बंगाल के दक्षिण-पूर्व में करीब 95 किलोमीटर पर एक अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में केंद्रित था: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) 





भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया,सुबह 11:30 बजे चक्रवात अम्फान करीब 125 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण-पूर्व दीघा (पश्चिम बंगाल) में था। दीघा, पश्चिम बंगाल और हटिया द्वीप समूह, बांग्लादेश के बीच पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटों को पार करने वाला है। लैंडफॉल की प्रक्रिया दोपहर से शुरू होगी|





राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया,  ओडिशा सरकार के मुताबिक करीब 1.5 लाख लोगों को निकाला गया है। बालासोर,भद्रक ज़िले ज़्यादा प्रभावित होंगे,वहां से ज़्यादा लोगों को निकाला गया है।बंगाल सरकार के मुताबिक 3.30 लाख लोगों को निकाला गया है। दक्षिण 24 परगना,पूर्व मिदनापुर से ज़्यादा लोगों को निकाला गया है| चिंता का विषय यह है कि लैंडफॉल किस गति से होगा। दोनों राज्यों में कुल 41 टीमें तैनात की गई हैं। 20 टीमें ओडिशा में तैनात की गई हैं और 19 पश्चिम बंगाल में, 2 टीमें स्टैंडबाय पर|






ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने कहा कि चक्रवात अम्फान पारादीप से 110 किलोमीटर दूर है और 18-19 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। एक घंटे पहले पारादीप में 102 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चली थीं। आज देर शाम तक पश्चिम बंगाल में सुंदरबन के पास भूस्खलन की आशंका है। अगले 6-8 घंटे बेहद महत्वपूर्ण हैं।



ओडिशा: चक्रवात अम्फान के चलते जगसिंहपुर ज़िले में पेड़ जड़ से उखड़ गए और घर ढह गए| 




चक्रवात अम्फान पारादीप (ओडिशा) से लगभग 120किमी पूर्व में सुबह 10:30बजे। सुंदरबन के पास दीघा (पश्चिम बंगाल) और हटिया द्वीप (बांग्लादेश) के बीच पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटों को पार करने वाला है। लैंडफॉल की प्रक्रिया दोपहर से शुरू होगी: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD)





हम अम्फान की लैंडिंग और इसी संभावित गति पर नजर बनाए हुए हैं। आईएमडी के मुताबिक, तूफान समुद्रस्तर से 4-6 मीटर ऊपर चलकर जमीन से टकराएगा। एनडीआरएफ की सभी टीम स्थानीय प्रशासन से समन्वय कर रही है। ओडिशा और प. बंगाल में एनडीआरएफ की 41 टीम तैनात हैं: एनडीआरएफ प्रमुख एसएन प्रधान  




ओडिशा के तटीय इलाकों में हवाओं ने तेज गति पकड़ ली है और यह पारादीप में 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है। हालांकि प. बंगाल में हवाएं इतनी तेज नहीं हैं। ओडिशा में बालासोर और भद्रक से करीब 1.5 लाख लोगों को और प. बंगाल के प्रभावित होने वाले इलाकों से 3.3 लाख लोगों को निकाला गया है : एनडीआरएफ प्रमुख एसएन प्रधान




ओडिशा:ओडिशा में तेज हवाओं की वजह से पेड़ टूटकर सड़कों पर गिर रहे हैं। फायर सर्विसेज टीम वाहनों की आवाजाही, आवश्यक वस्तुओं, और आपातकालीन सेवा कर्मियों की सुविधा के लिए भद्रक में आर एंड बी कार्यालय के पास सड़क पर गिरे पेड़ों को हटा रही है




अम्फान चक्रवात दीघा से 177 किमी. दूर है। यहां पहुंचने के बाद उत्तरपूर्व में कोलकाता की तरफ बढ़ेगा। तट को पार करने के दौरान इसकी गति करीब 155-166 किमी प्रति घंटा रहेगी। 21 मई की सुबह तक इसके तीव्र रहने का अनुमान है : उपनिदेशक, आईएमडी कोलकाता



भारतीय नौसेना
ने कहा- ओडिशा और पश्चिम बंगाल के लिए जेमिनी बोट और मेडिकल टीम के साथ 20 बचाव दलों को तैयार रखा गया है। नौसेना के एयरक्राफ्ट नौसेना स्टेशनों विशाखापतनम में आईएनएस डेगा और अराकोणम में आईएनएस राजाली राहत-बचाव कार्यों के लिए तैयार हैं।




भारतीय तटरक्षक बल के जहाज और विमान तैयार: भारतीय तटरक्षक बल ने अम्फान तूफान के मद्देनजर जहाजों और विमानों को प्रभावित क्षेत्रों में नजर रखने, खोज करने, बचाव और राहत कार्यों के लिए तैयार रखा है।




रेलवे ने कहा है कि हावड़ा-नई दिल्ली एसी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन के प्रस्थान को महाचक्रवाती तूफान 'अम्फान' के कारण रद्द कर दिया गया है। रेलवे ने कहा, भारी बारिश और तूफान आने की संभावना है, इसलिए बुधवार को 02301 हावड़ा-नई दिल्ली एसी स्पेशल एक्सप्रेस और 21 मई को नई दिल्ली-हावड़ा एसी स्पेशल एक्सप्रेस को रद्द किया गया है।




कोलकाता हवाई अड्डे के निदेशक ने कहा कि अम्फान तूफान को देखते हुए कोरोना विशेष उड़ानों सहित कल सुबह पांच बजे तक कोलकाता एयरपोर्ट पर सभी परिचालनों को स्थगित कर दिया गया है।



ओडिशा: ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त पीके जेना ने कहा कि CycloneAmphan पारादीप से110 किलोमीटर दूर है और ये18-19 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है,1घंटे पहले पारादीप में 102किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली थी।आज शाम को पश्चिम बंगाल में सुंदरबन के पास लैंडफॉल की आशंका है।अगले 6-8 घंटे महत्वपूर्ण हैं| अब तक हम 1,37,000 से ज़्यादा लोगों को शिफ्ट कर चुके हैं और अभी भी बालेश्वर और मयूरभंज ज़िलों में निकासी अभियान चलाया जा रहा हैं। बारिश और हवा को देखते हुए लोग खुद से हमारे शेल्टर में आ रहे हैं|





ओडिशा: ओडिशा में अम्फान तूफान की वजह से खतरनाक तेज हवाएं चल रही हैं। मौसम विभाग ने बताया कि पारादीप में 102 किमी, चंदबली में 74 किमी, भुवनेश्वर में 37 किमी, बालासोर में 61 किमी और पुरी में 41 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।




बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी पर है महाचक्रवाती तूफान: मौसम विभाग

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि महाचक्रवाती तूफान अम्फान आज सुबह 6:30 बजे से बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी पर एक बेहद भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में केंद्रित है, जो पारादीप से लगभग 125 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में है।






चक्रवात अम्फान आज सुबह 8:30 बजे पारादीप, ओडिशा से लगभग 120 किलोमीटर पूर्व-दक्षिण पूर्व में, सुंदरबन के पास दीघा (पश्चिम बंगाल) और हटिया द्वीप (बांग्लादेश) के बीच पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटों को पार करने वाला है। दोपहर से लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू होगी: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग






पश्चिम बंगाल: पूर्वी मेदिनीपुर के दीघा में हाई टाइड और तेज़ हवाएं चल रही हैं, CycloneAmphan से आज लैंडफॉल की आशंका है।



बंगाल की उत्तर-पश्चिमी खाड़ी, पारादीप से लगभग 125 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में चक्रवात अम्फान आज सुबह 6:30 बजे अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान के रूप में केंद्रित था: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD)



ओडिशा: बालासोर ज़िले के चांदीपुर में तेज़ हवा चलने के साथ बारिश हो रही है, चक्रवात अम्फान से आज भूस्खलन की आशंका है।



ओडिशा: पारादीप में कल रात से हवा और बारिश की रफ्तार बढ़ गई है, चक्रवात अम्फान से आज भूस्खलन की आशंका है।




ओडिशा: चक्रवात अम्फान को देखते हुए अब तक 1,704 शेल्टर होम तैयार किए गए हैं और 1,19,075 लोगों को निकाला गया है।




Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

Please LIKE TVL News Page. Thank you