Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

JDU नेता पवन वर्मा बोले- नीतीश कुमार दिल्ली में भी BJP से गठबंधन करेगे, तो अब सीएए पर वैचारिक स्पष्टीकरण की है जरूरत

  • by: news desk
  • 21 January, 2020
JDU नेता पवन वर्मा बोले- नीतीश कुमार दिल्ली में भी BJP से गठबंधन करेगे, तो अब सीएए पर वैचारिक स्पष्टीकरण की है जरूरत

नई दिल्ली: जदयू के वरिष्ठ नेता पवन कुमार वर्मा ने  कहा कि जब सीएए का प्रस्ताव पारित हुआ था तब मैंने नीतीश जी से इस मुद्दे पर बातचीत की थी। ऐसे में अगर पार्टी बिहार से बढ़कर दिल्ली में भी भाजपा से गठबंधन करेगी। तो मैं समझता हूं कि इसमें वैचारिक स्पष्टीकरण की जरूरत है। जदयू नेता पवन वर्मा ने मीडिया से कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने अब तक NRC-CAA पर पार्टी का रुख स्पष्ट नहीं किया है। उन्‍हें इस ज्‍वलंत मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। उन्‍होंने यह भी कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने मेरे पत्र का अब तक जवाब नहीं दिया है। उनके द्वारा मेरे पत्र का जवाब देने के बाद ही तय करूंगा कि मैं पार्टी में रहूंगा या नहीं।





इससे पहले दिल्ली विधानसभा चुनाव में JDU का बीजेपी के साथ गठबंधन पार्टी के वरिष्ठ नेता पवन वर्मा को नागवार गुजरा है और उन्होंने इस फैसले को लेकर पार्टी के अध्यक्ष नीतीश कुमार चिट्ठी लिखी है|जिसमें उन्होंने बीजेपी, नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर देश भर में गुस्से के माहौल पर अपनी राय रखी |




जदयू  नेता पवन कुमार वर्मा ने चिट्ठी में नीतीश कुमार से साल 2017 के बाद हुई एक निजी बातचीत का भी जिक्र किया है. जिसमें उन्होंने दावा किया कि किस तरह से नीतीश कुमार ने बीजेपी को लेकर आशंका जताई है. पवन कुमार ने लिखा, 'आपने कहा था कि किस तरह से बीजेपी के वर्तमान नेतृत्व ने उन्हें अपमानित किया है और आपने कहा कि बीजेपी भारत को एक खतरनाक जगह लेकर जा रही है, संस्थानों को खत्म कर रही है. अब जरूरत है कि एक लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष ताकत का गठन किया जाए. यहां तक कि पार्टी के एक वरिष्ठ नेता को भी यह जिम्मेदारी भी सौंपी गई है'|




पवन वर्मा ने पार्टी के विचारधारा के आधार पर नीतीश कुमार से सफाई मांगी है|  ऐसा लग रहा है कि नीतीश कुमार की लगातार चुप्पी से पवन वर्मा अब बेचैन हो गए हैं| गौरतलब है कि पवन वर्मा के अलावा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने भी बीजेपी के साथ रिश्तों पर तल्खी दिखा जा चुके हैं| उन्होंने भी नागरिकता कानून और एनसीआर को लेकर विरोध किया और यह भी कहा कि नीतीश कुमार ही बता सकते हैं कि इस नागरिकता कानून का समर्थन करने का फैसला क्यों लिया गया|




CAA को लेकर पवन वर्मा द्वारा नीतीश कुमार को लिखी चिट्ठी पर केंद्रीय मंत्री,अश्विनी चौबे ने कहा कि, ये उनका मुद्दा है, हम इसपर क्या बोल सकते हैं, नीतीश कुमार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं वो इसपर विचार करेंगे, अब राष्ट्रीय अध्यक्ष से कोई एक्सप्लेनेशन पूछे मुझे तो इसका कोई मतलब नहीं लगता।



आपको बता दें कि  दिल्ली विधानसभा में जेडीयू का बीजेपी के साथ चुनावी गठबंधन है| पार्टी दो सीटों पर चुनाव लड़ रही है| उधर प्रशांत किशोर की संस्था दिल्ली चुनाव में केजरीवाल के लिए काम कर रही है| दूसरी ओर दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए जनता दल-यूनाइटेड (जदयू) ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है, जिसमें पार्टी अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं को शामिल किया गया है| लेकिन इस सूची से प्रशांत किशोर और पवन वर्मा का नाम गायब है|







आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें