Ram Bahal Chaudhary
Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को तुरंत हटाया जाय, SC के दो जजों से हो जांच

  • by: news desk
  • 13 October, 2021
लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री को तुरंत हटाया जाय, SC के दो जजों से हो जांच

नई दिल्ली: लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल (मल्लिकार्जुन खड़गे,  ए.के. एंटनी,  गुलाम नबी आजाद और प्रियंका गांधी ) ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन जाकर मुलाकात की।  इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में तथ्यों से जुड़ा एक ज्ञापन भी राष्ट्रपति को सौंपा है और मामले में पीड़ित पक्ष को न्याय दिलाने के लिए दखल देने की अपील की है| राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, एके एंटनी, गुलाम नबी आज़ाद सहित भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ मुलाक़ात की।



कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, वरिष्ठ नेता एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, प्रियंका गांधी, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी. और के सी वेणुगोपाल शामिल थे|



 कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि,राष्ट्रपति ने हमको आश्वासन दिया है कि वह आज इस मामले (Lakhimpur Kheri violence)  पर सरकार के साथ चर्चा करेंगें। उनकी (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री) बर्खास्तगी की मांग कांग्रेस की मांग नहीं है, हमारे साथियों की मांग नहीं है, यह जनता की मांग है और पीड़ित किसान परिवारों की मांग है|



 मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि,''लखीमपुर खीरी में पीड़ित परिवारों कि मांग है कि जिसने भी उनके बेटे की हत्या करी उसे सज़ा मिले और यह भी कहा कि जिस व्यक्ती ने हत्या की उसके पिता देश के गृह राज्य मंत्री हैं। जब तक वह अपने पद पर हैं तब तक न्याय नहीं मिलेगा। ये बात हमने राष्ट्रपति को बताई है| उन्होंने कहा कि यह एक परिवार की नहीं बल्कि हिन्दुस्तान की आवाज है| राहुल गांधी ने आगे कहा कि अगर पिता मंत्री है तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी?



कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि,'हमने राष्ट्रपति से कहा कि मंत्री को उनके पद से हटाया जाना चाहिए और सुप्रीम कोर्ट के 2 सीटिंग जज के इन्क्वायरी होनी चाहिए|



प्रतिनिधिमंडल में शामिल मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, "हमने राष्ट्रपति को लखीमपुर खीरी कांड के संबंध में सारी जानकारी दी|हमारी 2 मांगें हैं- मौजूदा जजों से स्वतंत्र जांच होनी चाहिए और गृह राज्य मंत्री (अजय मिश्रा टेनी) को या तो इस्तीफा दे देना चाहिए या बर्खास्त कर देना चाहिए| मामले में न्याय तभी संभव होगा|



वहीं, लखीमपुर हिंसा मामले में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत  ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की है| राकेश टिकैत का कहना है कि जबतक अजय मिश्रा अपने पद पर बने रहेंगे तबतक निष्पक्ष जांच होना संभव नहीं है| वहीं इस्तीफा ना देने पर उन्होंने आंदोलन करने की बात कही है|



लखीमपुर खीरी में राकेश टिकैत ने कहा कि, “अगर केंद्रीय मंत्री का इस्तीफा नहीं होगा तो यहां से आंदोलन की घोषणा करेंगे| इसको लेकर लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी| लखीमपुर मामले में राकेश टिकैत ने अपनी योजना को लेकर बताया कि हिंसा में मारे गए किसानों के अस्थि कलश देश के हर ज़िले में जाएंगे और लोग उन्हें श्रद्धांजलि देंगे|



लखीमपुर खीरी की घटना पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि, “15 अक्टूबर को पुतला दहन होगा। 18 अक्टूबर को 6 घंटे ट्रेन रोकी जाएगी। 26 अक्टूबर को बैठक होगी और पूरे देश में उनकी कलश यात्राएं निकलेंगी|






Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines

You may like

स्टे कनेक्टेड