Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

गोण्डा: मूर्ति चोरी की घटना के खुलासे में जुटी पुलिस

  • by: news desk
  • 14 February, 2020
गोण्डा: मूर्ति चोरी की घटना के खुलासे में जुटी पुलिस

इटियाथोक(गोण्डा): बीते सोमवार की देर रात इटियाथोक कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत, करूवापारा में स्थित प्राचीन राम जानकी मंदिर के गर्भगृह में स्थापित अष्टधातु निर्मित 4, बेशकीमती मूर्तियां अज्ञात चोरों के द्वारा चुरा ली गई।




मंदिर के वर्तमान पुजारी राधेश्याम मिश्रा की तहरीर पर अज्ञात चोरों के खिलाफ स्थानीय कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कर जांच पड़ताल प्रारंभ कर दी गई है। चोरी की इस बड़ी घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश में स्थानीय कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार तोमर द्वारा उप निरीक्षकगणो के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित कर मामले के खुलासे हेतु लगाया गया है।




मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था में उप निरीक्षक नागेंद्र सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम तैनात की गई है जो मंदिर परिसर के आसपास की गतिविधियों पर अपनी पैनी नजर बनाए हुए है तथा ग्रामीण जनता से चर्चा परिचर्चा कर संदिग्ध व्यक्तियों की तलाश में जुटी हुई है। जांच पड़ताल के इसी क्रम में बीते बुधवार को दोपहर तकरीबन 12:00 बजे प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार तोमर मय फोर्स मंदिर परिसर में पहुंचे और वहां पर उपस्थित सभी पुलिसकर्मियों से परिचर्चा करने के उपरांत मंदिर के पुजारी राधेश्याम मिश्रा से करीब आधे घंटे पूछताछ की।




इसके बाद संदेश की बिनाह पर पुजारी के घर रहकर उनके खेतो में मजदूरी मेहनत का कार्य करने वाले सीतापुर निवासी कई मजदूरों के साथ उनके लड़के को पुलिस टीम द्वारा हिरासत में लेकर पूछताछ हेतु स्थानीय कोतवाली पर लाया गया। जहां पर पुजारी के लड़के व मजदूरों से प्रभारी निरीक्षक संजय कुमार तोमर व वरिष्ठ उपनिरीक्षक राजेश कुमार पांडे ने बारी-बारी से सभी संदिग्ध व्यक्तियों को चेंबर में बुलाकर चोरी से संबंधित घटना के बारे में जानकारी हासिल कर साक्ष्य जुटाने का प्रयास किया गया।





इटियाथोक पुलिस हिंदुओं की आस्था व विश्वास का केंद्र राम जानकी मंदिर से अष्टधातु निर्मित करोड़ों की बेशकीमती मूर्तियों के चोरी की घटना का पर्दाफाश करने में मुस्तैदी के साथ जुटी हुई। इटियाथोक पुलिस को चोरी की घटना में संलिप्त व्यक्तियों गिरेबान तक पहुंचने और चोरी की गई मूर्तियों को बरामद कर ग्रामीण जनता का विश्वास जीतने में कितना समय लगता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा। अब देखना यह है कि पुलिस लोगों के भरोसे पर खरा उतर कर उनका विश्वास जीतने में सफल होती है या असफल।




ग्रामीणों को उनके बिछड़े आराध्य देवों से मिला पाने में सफलता हासिल कर पाती है या नहीं? ग्राम पंचायत प्रधान प्रतिनिधि धीरेंद्र तिवारी समेत ग्रामीण जनता का पुलिस प्रशासन से विश्वास उठ चुका है। उनका कहना है कि अगर 2015 में इसी मंदिर से चोरी की गई लक्ष्मण भगवान की मूर्ति पुलिस प्रशासन द्वारा तत्परता दिखाते हुए बरामद कर ली गई होती तो शायद आज हमें यह दिन नहीं देखना पड़ता और पुलिस प्रशासन से हम सभी लोगों का विश्वास भी नहीं टूटता।




बीते कुछ महीनों पूर्व हुई चोरी की घटनाओं पर यदि नजर डाला जाए तो कहीं न कहीं पुलिस प्रशासन से भूल जरूर हुई है यदि समय रहते छोटी-छोटी चोरी की घटनाओं पर पुलिस प्रशासन द्वारा तत्काल एक्शन ले लिया गया होता तो शायद आज इतनी बड़ी चोरी की घटना को अंजाम देने से पहले चोरों को सौ बार अवश्य सोचना पड़ता।





रिपोर्ट - R.C GUPTA


Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

Please LIKE TVL News Page. Thank you