Ram Bahal Chaudhary
Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

7 दिन पहले बस्ती से किडनैप 13 साल के बच्चे को यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर से किया बरामद: 2 सगे भाई किडनैपर्स गिरफ्तार, सहजनवा में कमरें में बंधक बना कर रखा था, 50 लाख की मांगी थी फिरौती

  • by: news desk
  • 30 April, 2022
  • 452
7 दिन पहले बस्ती से किडनैप 13 साल के बच्चे को यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर से किया बरामद: 2 सगे भाई किडनैपर्स गिरफ्तार, सहजनवा में कमरें में बंधक बना कर रखा था, 50 लाख की मांगी थी फिरौती

● बस्ती से किडनैप 13 साल के बच्चे अखंड कसौधन को यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर से किया बरामद

● अपहरणकर्ताओं सूरज सिंह और आदित्य सिंह को गिरफ्तार किया

● बदमाशों ने अगवा बच्चे को सहजनवा में एक घर में बुरी तरह से बंधक बना कर रखा था

● बस्ती के रुधौली थाना क्षेत्र के रुधौली कस्बे से हुआ था अपहरण

● सहजनवा के रहने वाले दोनो सगे भाई है अपहरणकर्ता



बस्ती:  बस्ती पुलिस को अपहरण कांड में बड़ी सफलता मिली| बस्ती पुलिस ने कपड़ा व्यापारी के 13 साल के बेटे को सकुशल किडनैपर्स के चंगुल से छुड़ा लिया है। 7 दिन पहले यूपी के बस्ती जिले के रुधौली से किडनैप 13 साल के बच्चे अखंड कसौधन को यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर से बरामद किया|  रुधौली नगर पंचायत रुधौली मे कपड़ा व्यवसायी के तेरह बर्षीय पुत्र को थाना रुधौली पुलिस, SOGटीम, सर्विलांस टीम, एन्टीनॉरकोटिक्स, साइबर थाना, एन्टी व्हीकल टीम व UPSTF की संयुक्त टीम ने 7 दिन बाद गोरखपुर जिले के सजनवा नगर पंचायत से बरामद किया है।



पुलिस टीम ने अपहरणकर्ताओं सूरज सिंह और आदित्य सिंह को गिरफ्तार किया| गिरफ्तार अपहरणकर्ताओं की पहचान गोरखपुर के सहजनवा थाना के पाली निवासी सूरज सिंह और आदित्य सिंह के रूप में हुई है। दोनो अपहरणकर्ता सगे भाई भी है|  आरोपियों ने अपहृत बच्चे को सहजनवा के शिवपुरी कॉलोनी में किराए के मकान में रखा था। बदमाशों ने अगवा बच्चे को सहजनवा में शिवपुरी कॉलोनी में एक घर में बुरी तरह से बंधक बना कर रखा था|



उसके मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था। दोनों हाथ पीछे कर कपड़े से बांध दिया था। उसके साथ मारपीट की गई थी। अपहरणकर्ता ने अखंड के पिता से 50 लाख की रंगदारी मांगी थी| एडीजी गोरखपुर, आईजी और एसपी लगातार मॉनिटरिंग कर रहे थे| शनिवार की सुबह बस्ती पुलिस की टीम बच्चे को लेकर बस्ती लौटी। इसके बाद बस्ती जिला अस्पताल में बच्चे का मेडिकल चेकअप कराया गया। 




पिता ने पुलिस को दी थी तहरीर

थाना रुधौली क्षेत्रान्तर्गत अशोक कुमार गुप्ता पुत्र स्व0 गंगाराम गुप्ता निवासी नगर पंचायत रुधौली वार्ड नंबर 12 थाना रुधौली जनपद बस्ती द्वारा थाना रुधौली पर लिखित प्रार्थना-पत्र दिया कि 23 अप्रैल को समय करीब 16:30 बजे मेरा पुत्र अखंड कुमार कसौधन उर्फ अनुज उम्र करीब 12 वर्ष जोकि कक्षा 7 में पढ़ता है, घर से सब्जी लेने हेतु बाज़ार बैंक गली के पास गया था जहां से करीब आधा घंटा बाद वापस नहीं आया तब हम सभी उसे खोजते हुए सब्जी की दुकान पर गए तो सब्जी वाले ने बताया कि वह सब्जी लेने आया था और सब्जी लेकर सब्जी का झोला दूकान पर रखकर कहा की बाद में आकर ले लूंगा | इसी दौरान करीब 17:34 बजे मेरे मोबाइल नंबर 9838769113 पर मोबाइल नंबर 8076217730 से फोन आया कि आपका बच्चा अनुज किडनैप हो गया है अगर बच्चे को बचाना है तो रुपये 50 लाख की व्यवस्था करो मै बारा फोन करूंगा|




जिसके आधार पर थाना रुधौली पर मुकदमा दर्ज कर गहनता पूर्वक जांच-पड़ताल कर आवश्यक विधिक कार्यवाही करते हुए 29/39 अप्रैल को करीब 22:00 बजे  आदित्य सिंह और सूरज सिंह को बखिरा मोड़ रुधौली बाज़ार से गिरफ्तार कर अपहृत बालक अखंड कुमार कसौधन उर्फ़ अनुज को सकुशल बरामद कर उसके परिजनों को सुपुर्द किया गया | 




Crime Patrol देखकर अपनाया वारदात करने का तरीका

अपहरणकर्ताओं द्वारा बात करने हेतु Crime Patrol देखकर दूसरों की जैसे फेरी वालों, चाय की दुकान वालों का फोन मांग कर अथवा छीनकर प्रयोग करते थे | अपने मोबाइल का प्रयोग नहीं करते थे| इसी क्रम बेलहर थाना बेलहर कला अंतर्गत एक व्यक्ति से मोबाइल छीनकर अलग-अलग समय पर फोन फिरौती की मांग किया जा रहा था| जिसके सम्बन्ध में थाना बेलहर कला जनपद संतकबीर नगर पर अभियोग पंजीकत है|



व्यापारी अशोक कुमार गुप्ता को कपड़ा सप्लाई करते थे दोनों भाई

पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि हम दोनों भाई खलीलाबाद जनपद संतकबीरनगर से कपड़े खरीद कर कई दुकानों पर कपड़ा सप्लाई करते थे | हम दोनों भाई अशोक कुमार गुप्ता को भी कपड़ा सप्लाई करते थे आने-जाने के कारण अशोक कुमार गुप्ता का लड़का अखंड कुमार कसौधन हम दोनों से घुल-मिल गया था| हम दोनों भाइयों का सम्बन्ध अपने पिता से अच्छे सम्बन्ध नहीं थे और माता जी के गहने को गिरवी रखकर लोन लिए थे|



कर्ज चुकाने के लिए किया था अपहरण

जिसके कारण आर्थिक रूप से परेशान होने व कर्जे को चुकाने के लिए अशोक कुमार गुप्ता के लड़के अखंड कुमार कसौधन के अपहरण करने की योजना एक महीने पहले से बनाए थे और दिनांक-22.04.2022 को हम दोनों ने लड़के का अपहरण करने की कोशिश किए लेकिन असफल रहें| दिनांक.23.04.2022 को अखंड को सब्जी खरीदते हुए देखने पर लड़के के पास गए और बोले की हमारी गाड़ी का टायर पंचर हो गया जिसे चलाकर बदलवा दो जिस पर वह हम लोगों के साथ गाडी पर बैठकर चला आया और उसका हम दोनों भाइयों ने अपहरण कर लिया था तथा अशोक कुमार गुप्ता के पास फोन करके पैसा मांग रहे थे|




एसटीएफ टीम, नारकोटिक्स टीम, साइबर सेल, सहित 4 जिलों की पुलिस टीमें लगाई गई थी

पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि 23 अप्रैल को रुधौली कस्बे से अखंड कसौधन उर्फ अंकित कसौधान पुत्र अशोक कसौधन सब्जी लेने गया था। जिस पर बाइक सवार एक व्यक्ति द्वारा अपहरण कर लिया गया था । जिस पर एसटीएफ टीम, नारकोटिक्स टीम, साइबर सेल, सहित गोरखपुर, बस्ती, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर सहित तमाम टीमें लगाई गई थी। उन्होंने बताया कि सहजनवा नगर पंचायत में दो व्यापारी भाइयों ने मिलकर अखंड का अपहरण किया था। जो रुधौली कस्बे से बाइक से ले जाकर बाखिरा रोड के आगे मारुति सुजुकी ईईको गाड़ी में बैठा कर सहजनवा लेकर चले गए थे। सहजनवा मे एक बंद कमरे में अखंड को हाथ पैर बांधकर मुंह पर पट्टी बांधकर रखा गया था। जहां बस्ती पुलिस ने बच्चे को बरामद किया। 



23 अप्रैल को हुआ था अखंड कसौधन अपहरण

बस्ती के रुधौली कस्बे के गांधी नगर वॉर्ड में कपड़ा व्यापारी अशोक कसौधन अपने परिवार के साथ रहते हैं। 23 अप्रैल की शाम करीब 16:30 बजे अशोक का बेटा अखंड उर्फ अनुज(13) घर से सब्जी खरीदने बाजार गया था।  बाजार से बाइक सवार दो अज्ञात युवक उसे टॉफी का लालच देकर बाइक पर बिठा लिया। उसके बाद वहां से चले गए। युवकों ने फोन करके पिता अशोक कसौधन से बच्चे को छोड़ने के बदले में 50 लाख की फिरौती मांगी थी। जिसके बाद अशोक ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी।



पुलिस ने छानबीन शुरू को तो वह नंबर चाय बेचने वाले शिवा नाम के युवक का निकला। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की। पता चला कि अपहरणकर्ताओं ने मोबाइल खराब होने का बहना बनाकर उससे फोन मांगा था। उसके बाद उसके नंबर से ही अशोक से फिरौती मांगी थी|अपहरणकर्ताओं ने बच्चे को ले जाने के लिए जिस रूट का इस्तेमाल किया था। पुलिस ने उस रास्ते में लगे सारे CCTV फुटेज खंगाले। दुकान में लगे CCTV कैमरे के फुटेज से उसका मिलान किया गया। जिससे किडनैपर्स की पहचान हुई। STF गोरखपुर यूनिट, बस्ती, संतकबीरनगर और गोरखपुर की पुलिस मिलकर बदमाशों की तलाश में जुट गई थी।





Video:

आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TVL News

हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: https://twitter.com/theViralLines
ईमेल : thevirallines@gmail.com

You may like

स्टे कनेक्टेड