Ram Bahal Chaudhary,Basti
Share

Ayodhya Ram Mandir: राम मंदिर के लिए भूमि पूजन की तारीख तय, 5 अगस्‍त को अयोध्या आएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

  • by: news desk
  • 19 July, 2020
Ayodhya Ram Mandir: राम मंदिर के लिए भूमि पूजन की तारीख तय, 5 अगस्‍त को अयोध्या आएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अयोध्या/नई दिल्लीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या आने को लेकर अब तस्वीर साफ हो गई है. सूत्रों की माने तो पीएम मोदी 5 अगस्त को अयोध्या आएंगे. वह यहां करीब ढाई घंटे तक रहेंगे. अयोध्या में भूमिपूजन के लिए पीएमओ को 3 और 5 अगस्त की तारीख दी गई थी. सूत्रों की माने तो पीएमओ की तरफ से कन्फर्मेशन दे दिया गया है कि 5 अगस्त को पीएम अयोध्या भूमि पूजन के लिए आ रहे हैं.




श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के वरिष्ठ सदस्य स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती का कहना है कि 5 अगस्त की तारीखों को राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन के लिए इसलिए तय किया गया है क्योंकि इन दोनों तिथियों पर ग्रहों और नक्षत्रों का विशेष संयोग बन रहा है. उनके मुताबिक 5 अगस्त को सावन महीने की पूर्णिमा होने से उस दिन का मुहूर्त सबसे अच्छा है. ज्यादा संभावना इसी बात की है कि उसी दिन राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन हो.




अयोध्या में हुई राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक में रामलला के मंदिर के लिए भूमि पूजन की डेट पर चर्चा के साथ-साथ संतों की राम मंदिर की भव्यता को लेकर की गई मांग पर भी विचार हुआ. जिस पर तय किया गया कि अब राम मंदिर के शिखर को 128 फीट की जगह 161 फीट किया जाएगा. साथ ही राम मंदिर विशाल बने इसके लिए राम मंदिर मॉडल में कोई परिवर्तन नहीं करते हुए उत्तर और दक्षिण साइड का विस्तार किया जाएगा.






बता दें कि,राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक शनिवार को सर्किट हाउस में हुई थी। बैठक में ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, कामेश्वर चौपाल, नृत्यगोपाल दास, गोविंद देव गिरी महाराज और दिनेंद्र दास समेत दूसरे ट्रस्टी सर्किट हाउस में मौजूद थे|ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सर्किट हाउस से बाहर निकलकर बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी दी थी।




श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया,''समाज के 10 करोड़ परिवारों से धनसंग्रह करने की चर्चा आज निकली है, इनसे सम्पर्क किया जाएगा। जब धनसंग्रह और बाकी की ड्राइंग पूरी हो जाएंगी, उसके बाद 3 से 3.5 साल में मंदिर के निर्माण का काम पूरा कर दिया जाएगा|हमारा स्पष्ट मत है कि समाज जितना धन देगा उतना धन मंदिर निर्माण में खर्च होगा, आज हम गणित नहीं लगा सकते, धार्मिक कार्यों में ऐसा करना भी नहीं चाहिए, भगवान के काम में पैसे की कमी नहीं आएगी|




लार्सेन एंड ट्यूब्रो कंपनी मिट्टी परीक्षण के लिए नमूने एकत्र कर रहा है। मंदिर की नींव का निर्माण मिट्टी की ताकत के आधार पर 60 मीटर नीचे किया जाएगा। ड्राइंग के आधार पर नींव बिछाने का काम शुरू हो जाएगा| आज यह निर्णय लिया गया कि ईंटें सोमपुरा मार्बल्स ईंटों द्वारा प्रदान की जाएंगी। लार्सेन एंड ट्यूब्रो अपना काम करेंगे और ईंटों से संबंधित काम सोमपुरा मार्बल्स द्वारा किया जाएगा। दोनों मिलकर एक भव्य मंदिर का निर्माण करेंगे|







आप हमसे यहां भी जुड़ सकते हैं
TheViralLines News

ईमेल : thevirallines@gmail.com
हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें : https://www.facebook.com/TVLNews
हमें ट्विटर पर फॉलो करें: : https://twitter.com/theViralLines
चैनल सब्सक्राइब करें : https://www.youtube.com/TheViralLines
Loading...

You may like

स्टे कनेक्टेड

आपके लिए

आम मुद्दे और पढ़ें